Header Ads


Pregnancy Care items

क्या ब्लड प्रेशर होने पर भी कोरोना वैक्सीन लगवा सकते हैं | Corona Vaccine in high blood pressure

 नमस्कार दोस्तों हमारे देश के अंदर बहुत ज्यादा ऐसे लोग हैं. जिन्हें हाई ब्लड प्रेशर की समस्या का सामना करना पड़ रहा है.

हाई ब्लड प्रेशर के दौरान क्या कोरोनावायरस का टीका लिया जा सकता है.

अगर व्यक्ति कोरोनावायरस का टीका ले लेता है, तो उसे कितने दिनों के बाद दोबारा से अपनी हाई ब्लड प्रेशर की दवाई शुरू करनी चाहिए.
चर्चा करते हैं 


खैर आप जो बात जानना चाह रहे हैं. वह तो बहुत छोटी सी है. लेकिन उससे भी बड़ी बात यह है, कि आखिर ब्लड प्रेशर की समस्या है क्यों.

ब्लड प्रेशर अधिक होने से हमारे दिल को बहुत खतरा रहता है. इसलिए ब्लड प्रेशर हमेशा निश्चित अनुपात में ही होना अत्यधिक आवश्यक होता है. कोरोनावायरस के दौरान हाई ब्लड प्रेशर वाले व्यक्तियों को थोड़ा सा खतरा ज्यादा माना जा रहा है.
ब्लड प्रेशर के तीन चार मुख्य मुख्य कारण है. आप इन्हें थोड़ा सा कंट्रोल कर ले, तो आपको इस Article को आगे देखने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी.

केवल कोरोनावायरस से ही नहीं और भी दूसरे प्रकार की समस्याओं से ऐसे व्यक्तियों को खतरा होता है.

ब्लड प्रेशर उस व्यक्ति को सबसे ज्यादा रहता है जो दुनियादारी के बारे में सबसे ज्यादा सोचता है. उसमें आपका परिवार, आपका समाज और आपके रिश्तेदार सब आते हैं. व्यक्ति कर तो कुछ नहीं सकता, लेकिन बिना वजह हद से ज्यादा सोचता है.

किसी दूसरे को जरा सा भी कष्ट हो तो उस बात की चिंता वह स्वयं करने लगता है. चिंता करने से हमेशा ब्लड प्रेशर बढ़ता है. और बिना वजह सोचने से भी ब्लड प्रेशर बढ़ता है. आप थोड़ा सेल्फिश होकर अपने आप में मस्त रहना सीखें.

अगर आपके ब्लड के सभी तत्व उचित मात्रा में है, और ब्लड की थिकनेस भी सही है. तो ब्लड प्रेशर जल्दी से नहीं होता है. यह सब आप के पौष्टिक भोजन पर निर्भर करता है. सबसे पहले तो आप चीनी खाना बिल्कुल बंद कर दें. आप 6 महीने चीनी बिल्कुल नहीं खाए. आपको फर्क नजर आएगा. और पौष्टिक भोजन ले.


तीसरा मुख्य कारण है आपका डिस्टर्ब लाइफ़स्टाइल या दिनचर्या.
समय से उठे, समय से सोए, समय से खाएं.
लंच, डिनर और ब्रेकफास्ट के लिए एक समय निश्चित करें.
 सुबह, शाम शरीर के विषय में थोड़ा सोचें. योगा करें. अगर आपकी बॉडी में किसी प्रकार का दर्द है और आप योगा नहीं कर सकते हैं तो आप प्राणायाम तो कर ही सकते हैं. 3 महीने में फर्क नजर आएगा.

रोज थोड़ा 10 मिनट आंख बंद करके ध्यान लगाने की कोशिश करें. महीने 2 महीने में आपको काफी अंतर अपने शरीर में नजर आएगा. मेडिटेशन की कोई विधि सीख ले. बस टीवी या मोबाइल से 10 मिनट निकालने हैं आपको.


मीडिया के माध्यम से बहुत सारे डॉक्टर अपनी राय रख रहे हैं. उनसे एक प्रश्न क्या किया गया, कि क्या वह पेशेंट जो हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से ग्रसित हैं. वह कोरोनावायरस की वैक्सीन ले सकते हैं.

 तो सर्वसम्मति से डॉक्टर इस राय पर पहुंचे कि जो भी ब्लड प्रेशर के मरीज हैं. वह कोरोनावायरस की वैक्सीन ले सकते हैं. इसमें कोई समस्या नहीं है.

 कोरोना वैक्सीन की खुराक लेने से जो भी साइड इफेक्ट नजर आते हैं. वह भी नजर आएंगे. लेकिन कोरोनावायरस जितना खतरनाक हो सकता है. वह उसकी तुलना में कुछ भी नहीं है.

 ऐसा कोई मेजर प्रॉब्लम ब्लड प्रेशर को लेकर नहीं होना चाहिए. अभी तक ऐसा कुछ नहीं देखा गया है.

 यह बात उन्होंने काफी ब्लड प्रेशर से ग्रसित लोगों को कोरोना वैक्सीन डोज लेने पर अपने एक्सपीरियंस के आधार पर कही.

 उनसे एक प्रश्न और किया गया कि क्या ब्लड प्रेशर का मरीज वैक्सीन ले लेता है तो उसे अपनी ब्लड प्रेशर की मेडिसिन लेनी चाहिए या नहीं लेनी चाहिए.

 इस पर एक्सपर्ट्स का कहना यही था कि आप अगले दिन से अपनी ब्लड प्रेशर की दवाई कंटिन्यू कर सकते हो.  करोना वैक्सीन अपनी जगह है. ब्लड प्रेशर की समस्या अपनी जगह है. इसमें कोई परेशानी वाली बात नहीं है. दोनों अलग-अलग है.





No comments

Powered by Blogger.