प्रेगनेंसी का नौवां हफ्ता | 9th week of Pregnancy

प्रेगनेंसी के 8 हफ्ते बीत चुके हैं,और 9 वा सप्ताह शुरू हो चुका है. ऐसे में अब फर्स्ट ट्राइमेस्टर समाप्ति की ओर जा रहा है.

अब तक आपको कंफर्म हो चुका होगा कि आप गर्भवती हैं, और आपने कम से कम 1 विजिट डॉक्टर की तो ले ही ली होगी, और आपको ऐसे में डॉक्टर से बहुत सारे प्रश्न करने होते हैं.

पहला ट्रिमेस्टर कुछ महिलाओं के लिए काफी आरामदायक रहता है और कुछ महिलाओं को बहुत ज्यादा परेशानी का सामना भी करना पड़ सकता है. जिनकी तबीयत काफी ज्यादा खराब रहती है,

बार-बार उनका जी मिचलाना, उल्टी होना, कुछ भी अच्छा ना लगना, बहुत कुछ उनके साथ होता है. उन महिलाओं को हम बता दें कि ऐसा मुख्यतः पहले 3 महीने में ही होता है.



उसके बाद आपका शरीर प्रेगनेंसी को एक्सेप्ट करना शुरू कर देता है, और आपकी परेशानियां काफी कम हो जाती है.

इस हफ्ते के बाद आपको प्रेगनेंसी के 30 हफ्ते ही बचे हैं, और आपको अब काफी ध्यान रखने की आवश्यकता है.साथ ही साथ आप अपनी प्रेगनेंसी को एंजॉय भी करिए.  

9th week of pregnancy

 

आपको माता बनने का एक अलग ही एहसास महसूस होगा. ऐसा भी हो सकता है, कि आप अपने शिशु को महसूस करने लगे हो हालांकि उसकी गतिविधियों से आपको पता नहीं चलेगा, लेकिन आपके दिल का एहसास यह समझ जाएगा कि आप माता हैं.

9 हफ्ते की प्रेगनेंसी आने तक आप अपने नजदीकी परिवार वालों को इस बात की सूचना दे सकते हैं कि आप गर्भवती हैं.

महिला के शरीर में लक्षण और परिवर्तन

9 हफ्ते तक आप अपने शरीर के मध्य भाग पर थोड़ा सा वजन बढ़ा लेते हैं. इस वजह से जो कपड़े आपको फिट आ रहे हैं, जरूरी नहीं कि वह अब आपको आए.  

अब आपको धीरे धीरे ढीले कपड़े  पहनना शुरू कर देना चाहिए.  इस दौरान आपके शरीर में काफी सारे परिवर्तन आपको नजर आ सकते हैं.

इस दौरान शिशु का विकास काफी तेज गति से हो रहा है. उसे एनर्जी की बहुत ज्यादा आवश्यकता है,  और आपकी शरीर में ब्लड का सरकुलेशन भी बढ़ जाएगा.  ऐसे में आप अपनी शिराओं को स्पष्ट देख सकते हैं.

 क्योंकि यह नलिकाआएं नीले रंग के रक्त को ले जाने का कार्य करती है. इसलिए काली नजर आती है. असल में जिस ब्लड के अंदर ऑक्सीजन नहीं होती है वह नीले रंग का ही होता है.
आप यह शिराएं अपने स्तनों पर और पैरों पर स्पष्ट रूप से देख सकती हैं.

वेजाइनल डिसचार्ज इस दौरान आपको ज्यादा नजर आ सकता है, लेकिन यह सामान्य बात है. बस आप इस बात का ध्यान रखें इस का रंग पीला नहीं होना चाहिए. बदबूदार गंध नहीं होनी चाहिए. अगर यह समस्या नहीं है तो सब ठीक है.

महावारी के समय या उससे पहले होने वाला भारीपन इस दौरान आपको नजर आ सकता है यह इस हफ्ते भी नजर आता है.

आपको किसी भी प्रकार का स्पोटिंग है तो यह सामान्य है, लेकिन अगर आप को हल्का सा भी बिल्डिंग की समस्या नजर आ रही है तो आप तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें.

आपके स्तन बड़े हो रहे हैं. निप्पल अधिक डार्क हो सकता है. उसके चारों और छोटे छोटे दाने जैसे आपको नजर आ सकते हैं.  

आप इन छोटी-छोटी दानों को दबाकर इन से छुटकारा पाने की कोशिश नहीं करें . यह सामान्य है क्योंकि यह अब आने वाले समय में बच्चे को दूध पिलाने के लिए तैयार हो रहे हैं.

महिलाओं को इससे पहले हफ्ते में ही मुहांसों की समस्या नजर आ सकती है, और कुछ महिलाओं को 9 हफ्ते में इस प्रकार की समस्या दिखाई पड़ती है. उनके चेहरे पर एक टीनएजर की तरह मुहासे नजर आ सकते हैं.

 मुंहासों का इलाज आप आयुर्वेदिक  या घरेलू उपायों द्वारा करें, तो ज्यादा ठीक है. अपनी त्वचा पर किसी भी प्रकार की केमिकल क्रीम का इस्तेमाल नहीं करें, वैसे भी हार्मोनल परिवर्तन के कारण आपकी त्वचा सेंसिटिव होती है. 


भावनात्मक परिवर्तन और उदासी

कुछ भावनात्मक परिवर्तन महिलाओं में नजर आ सकते हैं. जैसे कि महिलाएं इस हफ्ते थोड़ा सा उदासी महसूस कर सकती हैं.  शरीर में आए लक्षणों के कारण भी हो सकता है. महिलाओं को हार्मोन अल परिवर्तन के कारण मन अच्छा नहीं होता है. इसलिए भी उदासी होती है.

कभी-कभी जितना महत्व महिला की प्रेगनेंसी को परिवार वालों को देना चाहिए, परिवार वाले उतना महत्व नहीं देते हैं, तब भी महिला उदास हो सकती है.

कभी-कभी महिला बच्चे के भविष्य को लेकर बहुत सी बातें होती हैं उनको लेकर उदास हो सकती है.
 
कभी-कभी महिलाओं के मन में मातृत्व की भावना नहीं आती है, यह भावना नहीं आने पर महिला उदास हो सकती है.

बच्चे की सुरक्षा को लेकर भी महिला कभी-कभी काफी उदास रहती है.

बहुत से नेगेटिव विचार महिला के मन में आ सकते हैं, इस कारण से भी महिला उदास हो सकती है, और यह उदासी कभी-कभी पूरी प्रेगनेंसी के दौरान रहती है. आपको इससे बचना चाहिए.

नौवें हफ्ते में गर्भस्थ शिशु का विकास

नौवें हफ्ते में बच्चे के विकास की बात करें तो बच्चे की लंबाई अब 2.5 सेंटीमीटर अर्थात लगभग 1 इंच उसकी लंबाई हो गई है. आप इसका औसत आकार एक जैतून फल के समान मान सकते हो.

इस वक्त आपके बच्चे की धड़कन काफी तेज गति से चल रही है और आप डॉप्लर की मदद से इसे सुन सकती हैं यह काफी भावनात्मक पल और भावुक पल आपके लिए हो सकता है.

इस हफ्ते के दौरान आपके बच्चे की आंख काफी बड़ी हो चुकी है, और उसके अंदर रंग भी आ गया है.  वैसे ज्यादातर बच्चे काली या भूरी आंखों के साथ जन्म लेते हैं, लेकिन आपको ज्ञात हो बच्चे की आंख का स्थाई रंग 6 से 9 महीने के बीच ही स्पष्ट होगा. जन्म लेने के बाद.  वैसे माता-पिता से मिले जेनेटिक गुण इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं.

इस हफ्ते आपके बच्चे के कानों का विकास हो रहा है. कान अंदर की तरफ भी विकसित हो रहे हैं, और कान का बाहरी हिस्सा भी विकसित हो रहा है.  

बच्चे के मुंह के अंदर जीभ डिवेलप हो रही है, और बच्चे के मुंह के अंदर दांतो की जगह उभार नजर आने लगे हैं, जहां मसूड़े बनेंगे.

इस हफ्ते आप डॉक्टर के पास अपने पहले अल्ट्रासाउंड के लिए जा सकते हैं. जहां आप अपने बच्चे की प्रोग्रेस को पता लगा पाएंगे, और बच्चे की धड़कन को सुन पाएंगे, या अल्ट्रासाउंड के माध्यम से बच्चे की धड़कन को देख भी सकते हैं.

बच्चे की सभी प्रकार का माप लेने के बाद डॉक्टर आपको उसके डेवलपमेंट की रिपोर्ट देगा.


Post a Comment

Previous Post Next Post

India's Best Deal