अचानक से प्रेगनेंसी के लक्षण कम होना – क्या मतलब है

0
34

यदि प्रेगनेंसी के लक्षण कम होना या गर्भावस्था के लक्षण अचानक दिखने बंद हो जाएं तो यह काफी विचारणीय प्रश्न होता है. और यह एक महत्वपूर्ण मेडिकल स्थिति होती है.

कई बार पहले यह प्रश्न आया है, कि हमें प्रेगनेंसी है, और अचानक से हमारे प्रेगनेंसी के लक्षण नजर आने बंद हो गए हैं.

इसका क्या कारण है.
ऐसा क्यों हो रहा है.
क्या यह कोई खतरे वाली बात है.
क्या यह प्रेगनेंसी के दौरान सामान्य होता है.

प्रेगनेंसी के शुरुआती लक्षण सभी महिलाओं को नजर आते हैं. एक ऐसा लक्षण है, जो सभी को आता है. वह है, पीरियड का मिस हो जाना. उसके अलावा और दूसरे लक्षण है, जैसे कि चक्कर आना, मॉर्निंग सिकनेस, यूरिन अधिक आना, थकावट लगना.

 ऐसे ही बहुत सारे लक्षण है, यह सभी लक्षण एक साथ किसी को नहीं आते हैं. कुछ महिलाओं को अगर लक्षण आते हैं. कुछ महिलाओं को अगर लक्षण आ सकते हैं.

प्रेगनेंसी के शुरुआती समय में यह समस्या काफी ज्यादा नजर आती है, कि लक्षण नजर आ रहे हैं, और उसके बाद लक्षण अचानक से आना बंद हो जाते हैं. कुछ लक्षण तो इसलिए बंद हो जाते हैं, क्योंकि उनकी जगह नई लक्षण आने लगते हैं.

अक्सर ऐसा होता है, कि प्रेगनेंसी धीरे-धीरे आगे बढ़ती है. तो पुराने लक्षण आना कम हो जाते हैं, और नए लक्षण नजर आने लगते हैं. तो यह कोई समस्या की बात नहीं, लेकिन कभी-कभी क्या होता है, कि धीरे-धीरे सभी के सभी लक्षण आने कम हो जाते हैं. और नई लक्षण नजर नहीं आते, तो ऐसे में क्या यह कोई समस्या वाली बात है. इस पर चर्चा करें उससे पहले हम आपको बताते हैं कि ऐसा क्यों होता है.

अचानक से प्रेगनेंसी के लक्षण कम होना - क्या मतलब है
FEATURED

100+ प्रेगनेंसी जींस

  • स्किन फ्रेंडली
  • मल्टी कलर
  • मल्टी डिजाइन
  • आपके बजट में
  • कस्टमर रिव्यूज

प्रेगनेंसी में लक्षण आने का मुख्य कारण

जब किसी भी स्त्री को प्रेगनेंसी होती है ,तो प्रेगनेंसी को संभालने के लिए बहुत सारे हारमोंस महिला के शरीर में बढ़ने लगते हैं. और कुछ हारमोंस नए भी बनते हैं. जब यह हारमोंस महिला के शरीर में अधिक मात्रा में होते हैं.
 
उनका साइड इफेक्ट महिला को नजर आने लगता है. जिन्हें हम तक प्रेगनेंसी के लक्षण के नाम से जानते हैं.

 प्रेगनेंसी के लक्षण कम होना इसका अर्थ

अगर किसी गर्भवती महिला को यह सब लक्षण जो कि हारमोंस की अधिकता की वजह से नजर आ रहे हैं. अगर हार्मोन कम होने लगते हैं, इसका अर्थ यही होता है, कि प्रेगनेंसी अब नहीं रही या बहुत जल्दी समाप्त हो जाएगी.

प्रेगनेंसी हारमोंस तभी कम होते हैं, जब प्रेगनेंसी समाप्त हो जाती है. इसका मतलब अगर यह बीच में ही कम हो रहे हैं, तो यह आपके गर्भस्थ शिशु के लिए एक तरह से खतरे वाली बात होती है.

प्रेगनेंसी के शुरुआती 12 हफ्ते के अंदर गर्भ शिशु के लिए काफी ज्यादा खतरे वाली बात होती है. पहले 3 महीने में गर्भ में शिशु काफी कमजोर होता है. और जरा से ही आघात या असावधानी की वजह से गर्भपात हो सकता है.

अगर आपको लगता है कि आपकी प्रेगनेंसी के लक्षण अचानक से कम होने लगे हैं और सभी लक्षणों में धीरे-धीरे कमी आ रही है, तो यह एक खतरे का सूचक है. आपको तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए. कई बार ऐसी स्थिति में गर्भपात की संभावना काफी बढ़ जाती है.

हालांकि इसके पीछे दूसरे कारण भी हो सकते हैं, लेकिन वह भी इस दौरान नुकसानदायक ही होते हैं. इसलिए डॉक्टर से मिलना अत्यधिक आवश्यक होता है.

आपके प्रश्न

प्रेगनेंसी के लक्षण कम होने के क्या कारण हो सकते हैं?

प्रेगनेंसी के लक्षण कम होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे कि हार्मोनल परिवर्तन, प्रेगनेंसी के प्रकृति या कोई बीमारी, या मानसिक दबाव.

प्रेगनेंसी के लक्षण कम होने पर क्या करना चाहिए?

गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के लक्षणों का विशेष ध्यान रखना चाहिए जैसे ही महिला को महसूस हो कि प्रेगनेंसी के लक्षणों में कमी आ रही है तो उसे तुरंत अपने डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए क्योंकि यह गर्भपात की तरफ एक इशारा हो सकता है.
डॉक्टर आपकी स्थिति की जांच करेंगे और आवश्यकतानुसार उपाय बताएंगे.

प्रेगनेंसी के लक्षणों की कमी के बावजूद क्या गर्भपात के खतरे हैं?

हां, प्रेगनेंसी के लक्षणों की कमी किसी गर्भपात के संकेत हो सकती है, इसलिए डॉक्टर से जल्दी सलाह लेना महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि प्रेगनेंसी के लक्षण प्रेगनेंसी हारमोंस की वजह से आते हैं अगर शरीर में प्रेगनेंसी हार्मोन कम हो रहे हैं तो लक्षणों में कमी हो रही है अर्थात प्रेगनेंसी को खतरा है गर्भपात हो सकता है.

प्रेगनेंसी के लक्षणों में कमी होने पर क्या उपाय किए जा सकते हैं?

डॉक्टर आपके मेडिकल हिस्ट्री और स्थिति के आधार पर उपाय बता सकते हैं, जैसे कि..
कारणों को जानने के लिए डॉक्टर मेडिकल टेस्ट कर सकते हैं
आपको कुछ दवाइयों का सुझाव दे सकते हैं
कई मामलों में आपको आराम करने की सलाह दी जाती है.
उपाय आपकी परिस्थिति के अनुसार आपको बताएंगे

क्या प्रेगनेंसी के लक्षणों की कमी से बचाव के उपाय हो सकते हैं?

गर्भावस्था के दौरान स्वस्थ रहना महत्वपूर्ण है.
सही आहार,
प्रेगनेंसी का ध्यान रखना,
नियमित डॉक्टर के नियमित रूप से डॉक्टर की सलाह लेना
इन सब तरीकों से आप अपनी प्रेगनेंसी में प्रेगनेंसी के लक्षणों की कमी से बच सकते हैं.

कृपया ध्यान दें कि यह सलाह केवल सामान्य सूचना है और गर्भावस्था से जुड़े सभी सवालों के लिए डॉक्टर की सलाह लेना सर्वोत्तम होता है.


कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें