Header Ads


Pregnancy Care items

यह पांच सफेद जहर नहीं खाना है | Don't eat these five white poisons

 हम बात करने जा रहे हैं कि हमारे जीवन में वह कौन से पांच सफेद जहर हैं जिनसे हमें बचना चाहिए, तो आज हम चार बिंदुओं पर बात करेंगे कि
 

1-  यह कौन कौन से पांच सफेद जहर है

2-  इन्हें कितनी मात्रा में खाएं

3-  इनसे क्या-क्या बीमारियां होती है

४-  अगर ये ना खाए तो उनकी जगह क्या खाएं

 
दोस्तों पांच सफेद शहर हमारी किचन में मौजूद रहते हैं. जिन्हें हम रोज खाते हैं, और वह धीरे-धीरे हमें बीमार करते जा रहे हैं. जिनसे हमें हाइपरटेंशन, ब्लड प्रेशर, ब्लड शुगर, दिल की बीमारियां, कैंसर जैसे घातक रोग हो रही हैं. इन्हें या तो कम खाएं या बिल्कुल ना खाएं. हमारे देश में बिना किसी संक्रमण के 53 परसेंट लोग इन बीमारियों से बीमार हो रहे हैं, यानी यह बिना संक्रमण की बीमारी है.  हम अपनी आदतों और रहन-सहन के कारण बीमार हो रहे हैं.


 
हमारा गांव, हमारा कस्बा, हमारा शहर हमारा देश बीमार हो रहा है. लाइफस्टाइल बदलने से हम काफी हद तक इन पर काबू पा जा सकते हैं. हम फिजिकल वर्क नहीं करते जीभ के स्वाद के चक्कर में हम आत्मसमर्पण करते जाते हैं. आप खाना खा रहे हैं, या वीमारिया खा रहे हैं. समय पर जागे तो इन बीमारियों को निकाला जा सकता है. मॉडर्न लाइफस्टाइल के चक्कर में हम ज्यादा बीमार हो रहे हैं. डॉक्टर छोटी-छोटी चीजें बता कर हमें हमारी आदतों को बदलने की सलाह देते हैं. हमें प्रत्येक दिन 100 ग्राम फल या हरी सब्जी जरूर खानी चाहिए. लेकिन हम एक परसेंट भी नहीं खाते हैं. दौड़ती भागती जिंदगी में सलाह हवा में उड़ जाती है, और हम जाने अनजाने में बीमार होते चले जा रहे हैं. अब साइकिलिंग व्यायाम पैदल चलना तो जैसे बिल्कुल ही भूल गए हैं.


इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था के दौरान अल्ट्रासाउंड क्यों महत्वपूर्ण होता है
इन्हें भी पढ़ें : स्वस्थ गर्भावस्था के 6 उपाय 
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में मखाने खाने के लाभ और हानि
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में पेट दर्द के 4 घरेलू उपाय
इन्हें भी पढ़ें : गर्भ में जुड़वा बच्चे तो यह 6 समस्याएं हो सकती हैं


तो आइए हम अपने पहले पॉइंट पर बात करते हैं हमारा पहला पॉइंट है कि यह कौन-कौन से हैं इनका नाम क्या है 

1-  नमक

2-  चीनी

3-  मक्खन

4-  मैदा

5-  चावल या आटा

 
            अब हम दूसरे पॉइंट पर बात करते हैं कि हमें इन्हें किस मात्रा में खाना चाहिए.  एक स्वस्थ व्यक्ति को दिन   में 6 ग्राम नमक खाना चाहिए. चीनी 25 ग्राम, मक्खन 25 ग्राम, मैदा 300 ग्राम, चावल ज्यादा पूरे दिन में 360 ग्राम.
दोस्तों से इससे ज्यादा एक दिन में आप बिल्कुल भी ना खाएं, कोशिश करें कि ना खाएं, अगर खाए तो सावधानी जरूर रखें.

अब हम बात करते हैं, कि  इन के खाने से हमें क्या-क्या बीमारियां होती हैं. दोस्तों नमक के खाने से जिसको आप आयोडीन नमक कहते हैं. महिलाओं में बांझपन और पुरुषों में नपुंसकता बढ़ती है. चीनी से कोलेस्ट्रॉल की समस्या और हाई ब्लड शुगर रोग होते हैं.

 अब बात करते हैं, मैदा से क्या होता है, और यह शरीर का बहुत बड़ा दुश्मन है. यह हमारे पाचन तंत्र को खराब कर देता है. आंतो में जम जाता है, और पाचन क्रिया को तहस-नहस कर देता है. अब बात करेंगे, हम चावल या  आटा चावल पॉलिश क्या हुआ चावल और चोकर निकला आटा  हमें आर्थराइटिस  की बीमारियां देता है और मक्खन खाने से हमें और जोड़ों की बीमारियां होती हैं.
 
अब बताते हैं अगर ये ना खाएं तो हम इनकी जगह क्या खाएं  

दोस्तों आप चीनी की जगह खजूर और गुड़ का सेवन कर सकते हैं.

 मक्खन की जगह आप सरसों का तेल या गाय का शुद्ध घी इस्तेमाल कर सकते हैं.
नमक की जगह आप  डली वाला नमक, सेंधा नमक प्रयोग कर सकते हैं.

चावल की जगह आप हाथ से कूटे हुए लाल चावल का इस्तेमाल कर सकते हैं और

आटे की जगह उसमें बाजरा और चने का आटा मिलाकर इस्तेमाल कर सकते हैं,
मैदा आप किसी भी प्रकार से किसी भी तरह से ना खाएं, किसी भी रूप में ना खाएं. मेरी आपसे यही प्रार्थना है .

No comments

Powered by Blogger.