Header Ads

प्रेगनेंसी में मखाने खाने के लाभ और हानि

 प्रेगनेंसी के दौरान महिला अगर मखाने खाती है तो महिला को कौन-कौन से लाभ और कौन-कौन  से नुकसान हो सकते हैं इस पर एक नजर डालते हैं.

Advantages and disadvantages of eating food in pregnancy.


प्रेगनेंसी में मखाने खाने के लाभ - Pregnancy me Makhane Khane ke Labh

प्रेगनेंसी के दौरान मखाने खाने के बहुत सारे लाभ गर्भवती स्त्री को हो सकते हैं जिनमें से कुछ मुख्य लाभ हम आपको बता रहे हैं. 


मखाना खाने से अचानक से बढ़ जाने वाला ब्लड प्रेशर कंट्रोल में आ जाता है. मखाने के अंदर कैल्शियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है. डॉक्टर से मुताबिक कैल्शियम इस प्रकार के ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में लाने का कार्य करता है. साथ ही साथ कैल्शियम बच्चे के स्ट्रक्चरल विकास और मस्तिष्क के विकास को भी सपोर्ट करता है. 


मखाने के अंदर अच्छी मात्रा में आयरन भी पाया जाता है. आयरन बच्चे के विकास के लिए एक आवश्यक तत्व होता है. आयरन बच्चे के चहुमुखी विकास के लिए काफी जरूरी होता है. यह महिला और गर्भस्थ शिशु दोनों के लिए आवश्यक है .


गर्भावस्था में मखाने खाने से बच्चों की हड्डियां मजबूत होती है. दातों के विकास में भी सहायता मिलती है. मखाने में पाए जाने वाला कैल्शियम और विटामिन डी यह कार्य बखूबी करते हैं.


मखाने का सेवन करने से महिला एनीमिया की परेशानी से बच सकती है. मखाने का सेवन करने से महिला के शरीर में रक्त की कमी नहीं होती है. हिमोग्लोबिन प्रचुर मात्रा में रहता है.


महिलाओं को अक्सर गर्भावस्था के दौरान शुगर होने की समस्या हो सकती है इसलिए महिलाओं को ऐसी भोजन को सुनना चाहिए जिसमें कम शुगर होती है मखाना भी एक ऐसा ही खाद्य पदार्थ है.


प्रेगनेंसी के दौरान मखाने खाने से अनिद्रा की समस्या से महिलाओं को आराम मिल सकता है. मखाने में किडनी और हृदय को स्वस्थ रखने वाले काफी लाभकारी गुण पाए जाते हैं. मखाने का सेवन करने से घबराहट और बेचैनी की समस्या भी दूर हो सकती है. 


न्यूरल ट्यूब दोष के  कारण गर्भस्थ शिशु में रीड की हड्डी से संबंधित या मस्तिष्क से संबंधित समस्या उत्पन्न हो सकती है मखाने का सेवन करने से इस प्रकार की समस्या में राहत मिलती है.


मखाने में पाए जाने वाले इतने सारे पोषक तत्व होते हैं,  जो गरबा शिशु के अंगों के विकास में सहायता करते हैं. अगर गर्भावस्था के दौरान विटामिन ए की पर्याप्त मात्रा ली जाती है. तो शिशु के का नाक रीड की हड्डी इत्यादि के विकास में सहायता मिलती है.


मखाना अपने एंटीऑक्सीडेंट गुणों के कारण एक सेहत को अच्छा करने वाला खाद्य पदार्थ माना जाता है.
मखाने में पाया जाने वाला पोटेशियम एंटी एजिंग का कार्य करता है. यह गर्भावस्था के दौरान कील मुहांसों को होने से रोकता है.  

प्रेगनेंसी में मखाने खाने के नुकसान - Pregnancy me Makhane Khane ke Nuksan

मखाने के अंदर पोटेशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है और शरीर को किसी भी पोषक तत्व की आवश्यकता एक निश्चित मात्रा में ही होती है. मखाने को अधिक मात्रा में लेने से पोटेशियम के कारण किडनी पर प्रभाव पड़ने की आशंका रहती है.

फास्फोरस भी मखाने के अंदर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. अधिक मात्रा में फास्फोरस अगर शरीर में चला जाए तो यह किडनी और लीवर को प्रभावित करता है.

कार्बोहाइड्रेट भी मखाने के अंदर प्रचुर मात्रा में होता है अधिक मखाने खाने से वजन बढ़ने की समस्या हो सकती है और निश्चित मात्रा में वजन बढ़ाना है प्रेग्नेंसी के समय उचित रहता है.

No comments

Powered by Blogger.