प्रेगनेंसी में ग्रीन एप्पल खाना चाहिए या नहीं | एक सेब से कितनी कैलोरी मिलती है

0
163

प्रेगनेंसी के दौरान ग्रीन एप्पल खाने को लेकर हम आज अपने इस Article के माध्यम से चर्चा करने जा रहे हैं. आज हम बात करेंगे.
ग्रीन एप्पल की न्यूट्रिशन वैल्यू क्या होती है और प्रेगनेंसी में हरे सेब खाने के क्या-क्या फायदे हो सकते हैं.

ग्रीन एप्पल के अंदर कई प्रकार के न्यूट्रिशन होते हैं

ग्रीन एप्पल के अंदर फाइबर कम मात्रा में पाया जाता है. इसके अंदर कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, फॉलिक एसिड, नियासिन, मैग्नीशियम, आयरन, पैंटोथेनिक एसिड, फास्फोरस और पोटेशियम जैसे तत्व पाए जाते हैं.

इसके अंदर आपको प्रोटीन, राइबोफ्लेविन, थायमिन, विटामिन ए और विटामिन सी की भी अच्छी मात्रा प्राप्त होती है. ग्रीन एप्पल ऊर्जा का भी स्रोत माना जाता है.

Green Apple in pregnancy |  प्रेगनेंसी में ग्रीन एप्पल

इन्हें भी पढ़ें : गोरी, सुंदर और उत्तम संतान प्राप्ति हेतु उपाय

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के दौरान लो ब्लड प्रेशर के लिए घरेलू उपाय

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के दौरान पनीर खाना | Eating cheese during pregnancy

इन्हें भी पढ़ें : कैसे जाने आम प्रेगनेंसी में खाने लायक है या नहीं है

डीएनए की रक्षा करना

हर एक व्यक्ति के शरीर में फ्री रेडिकल्स होते हैं, जो डीएनए मॉलिक्यूल पर हमला करके उसे क्षतिग्रस्त करने का कार्य करते हैं.

डीएनए मॉलिक्यूल अगर क्षतिग्रस्त हो जाता है, तो बच्चे के विकास में प्रभाव पड़ता है. ग्रीन एप्पल में पाए जाने वाले तत्व, फ्री रेडिकल से इनकी रक्षा करने का कार्य करते हैं. एंटी ऑक्सीडेंट और विटामिन सी जैसे तत्व फ्री रेडिकल्स से लड़कर डीएनए को टूटने से बचाते हैं.

 

वजन कंट्रोल करें

वजन को नियमित करें प्रेगनेंसी के दौरान महिला का वजन बढ़ना काफी आवश्यक होता है, लेकिन यह वजन नियमित तौर पर ही बढ़ना चाहिए.

आवश्यकता से अधिक वजन होना भी नुकसानदायक होता है. हरे सेब का सेवन करने से वजन संयमित रहता है. जिन महिलाओं को अधिक वजन होने की शिकायत है, उनके लिए ग्रीन एप्पल फायदेमंद है.

प्रेगनेंसी में पित्त को कंट्रोल करें

प्रेगनेंसी के दौरान अगर महिलाओं का पित्त अधिक बढ़ जाता है, तो यह प्रीमेच्योर डिलीवरी की समस्या को पैदा करने में सक्षम होता है. ग्रीन एप्पल पित्त को कंट्रोल रखने में मदद करता है.

प्रेगनेंसी में मतली से राहत

कई प्रकार के हार्मोन उत्पन्न हो जाने के कारण पेट के अंदर की परत एसिड के प्रति काफी ज्यादा संवेदनशील हो जाती है. जिसकी वजह से बार-बार उल्टी जैसा महसूस होता रहता है.

हरे सेब के अंदर हल्का सा खट्टापन होता है, और मीठा भी होता है. इसकी वजह से बार बार उल्टी जैसा महसूस होने में राहत मिलती है.

Pregnancy Snacks Trail Mix Dry Fruits

Pregnancy Snacks Trail Mix Dry Fruits

Protinex Mama (Chocolate)

Protinex Mama (Chocolate)

प्रेगनेंसी में भूख बढ़ाए

जब महिला प्रेगनेंसी के दौरान लगातार ग्रीन एप्पल का प्रयोग अपने भोजन में करती है, या उसका जूस पीती है, तो धीरे-धीरे उसकी भूख बढ़ने लगती है.

प्रेगनेंसी के दौरान काफी ज्यादा एनर्जी की आवश्यकता होती है. ग्रीन एप्पल को खाने से एनर्जी भी प्राप्त होती है.

प्रेगनेंसी में कब्जे से राहत

ग्रीन एप्पल के अंदर पाया जाने वाला पदार्थ ग्रीन एप्पल के अंदर पाया जाने वाला फाइबर प्रेगनेंसी के दौरान कब्ज की समस्या को दूर करने में काफी मदद करता है.

यह मल आने को प्रेरित करता है. प्रेगनेंसी के दौरान अगर कब्ज की समस्या रहती है,तो यह विकासशील बच्चे के लिए काफी नुकसानदायक मानी जाती है.

प्रेगनेंसी में सूजन की समस्या से राहत

अक्सर प्रेगनेंसी के दौरान महिला के पैरों में सूजन की समस्या देखने में आती है, और कभी-कभी यह काफी तकलीफ दें और दर्दनाक होती है.

अगर महिला प्रेगनेंसी के दौरान ग्रीन एप्पल का प्रयोग अपने भोजन में कर रही है तो सूजन की समस्या में काफी राहत मिलती है.

प्रेगनेंसी में प्रतिरोधक क्षमता मजबूत करें

ग्रीन एप्पल के अंदर कई प्रकार के एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर करने का कार्य करते हैं.

इससे महिलाओं को छोटे-मोटे रोग जैसे कि सर्दी खांसी जुखाम गला दर्द शरीर में दर्द खाज खुजली इत्यादि में काफी राहत मिलती है.

एक सेब खाने पर कितनी कैलोरी मिलती हैं

यह एक बहुत ही स्वादिष्ट फल होता है. इसका स्वाद खट्टा मीठा होता है, जो प्रेग्नेंसी के समय महिला को काफी पसंद आ सकता है.

सेब के अंदर बहुत सारे मिनरल्स और विटामिंस होते हैं, लेकिन इसके अंदर कैलोरी भी अच्छी मात्रा में होती है.

सेब के अंदर कैलोरी एक निश्चित मात्रा में नहीं होती है. यह उसके size पर निर्भर करती है. बड़े सेब के अंदर थोड़ा अधिक कैलोरी और छोटे सेब के अंदर कम कैलोरी होती है.
इसलिए एक सेब खाने पर कितनी कैलोरी मिलती है, यह बिल्कुल भी निश्चित नहीं होता है.

प्रति 100 ग्राम सेब के अंदर 52-52.5 Kcal कैलोरी होती है.
प्रति 100 ग्राम सेब के रस में अंदर 45-46 Kcal कैलोरी होती है.

अगर हम एक सेब में कितनी कैलोरी होती है या एक सेब से कितनी कैलोरी मिलती है, इस बात को पता करना चाहे तो यह बिल्कुल भी निश्चित नहीं है. औसत सेब आकार के अनुसार एक सेब में 90 से 100 Kcal कैलोरी होती हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें