Current and Emerging Trends in Fitness – फिटनेस प्राप्ति के लिए उभरते फिटनेस तरीके

0
19

फिटनेस लगातार बदलने वाला क्षेत्र है। जीवन के स्तर को बढ़ाने के उद्देश्य से हर समय नई मशीनें, रणनीतियाँ और सिद्धांत होते हैं।

समाज में कभी-कभी फिटनेस के प्रति रुझान पैदा होता है और कभी-कभी वह रुझान समाप्त भी हो जाता है, हालांकि, फिटनेस की प्राप्ति के लिए ऐसे कई तरीके हैं जो वर्षों तक प्रयोग में लाए जाते हैं और और धीरे-धीरे विकसित होते रहते हैं और उनकी प्रतिष्ठा बढ़ती रहती है। 

 आज हम फिटनेस की प्राप्ति के लिए  उभरते हुए नवीनतम फिटनेस तरीकों (Current and Emerging Trends in Fitness) के विषय में बात करेंगे।

Current and Emerging Trends in Fitness - फिटनेस प्राप्ति के लिए  उभरते फिटनेस तरीके

एक समय था जब एरोबिक्स को फिटनेस का केंद्र बिंदु माना जाता था। एरोबिक्स के अंदर, डांस टाइप एरोबिक्स, किकबॉक्सिंग, बॉक्सिंग, म्यूजिक एरोबिक्स, स्पिनिंग और कई अन्य प्रकार के एरोबिक्स फिटनेस के लिए उपलब्ध हैं।

समय बदल रहा है और योग फिटनेस का केंद्र बिंदु बनता जा रहा है। अब योग को फिटनेस का सबसे अच्छा विकल्प माना जा रहा है

योग फिटनेस में वर्तमान और उभरता हुआ रुझान है। योग प्राचीन भारतीय पद्धति है। फिटनेस के लिए किसका उपयोग किया जाता है? इसे फिटनेस और मेडिटेशन के लिए बेहद जरूरी माना जाता है।

कुछ दशक पहले तक फिटनेस को खेलों से जोड़कर देखा जाता था, लेकिन आज खेल और फिटनेस अलग-अलग क्षेत्र बन गए हैं। किसी भी व्यक्ति को अपनी आध्यात्मिक प्रगति, शारीरिक प्रगति, मानसिक प्रगति के लिए फिटनेस को अपने जीवन में स्थान देना होगा।

आजकल एरोबिक्स और योग दो ऐसे फिटनेस पोल बन गए हैं, जिन्हें फिटनेस का केंद्र बिंदु माना जाता है, मानसिक शांति और आध्यात्मिक विकास के लिए योग को अधिक महत्व दिया जाता है।

Home Fitness Equipment Current Price

योग आपको ब्रह्मांड में ऊर्जा से जोड़ने का काम करता है। आज के फिटनेस मंत्र को योग माना जाता है।

 जहां तक ​​एरोबिक्स का सवाल है, इसमें शारीरिक फिटनेस के साथ-साथ मानसिक फिटनेस भी शामिल है। लेकिन इसका आध्यात्मिक प्रगति से कोई लेना-देना नहीं है।

भारत में एक समय था जब कुश्ती को फिटनेस से जोड़ा जाता था। जिसमें व्यक्ति हैवी और हेल्दी डाइट से शरीर को मजबूत बनाता था। लेकिन अब फिटनेस के मायने बदल गए हैं। आजकल फिटनेस में उभरता हुआ रुझान सक्रियता, पतला शरीर और शरीर सौष्ठव है। जहां व्यक्ति के अंदर की शारीरिक शक्ति भी अद्भुत होनी चाहिए, वहीं मानसिक शक्ति को फिटनेस से जोड़कर देखा जाता है।

इस प्रकार की फिटनेस का उपयोग हमारे खेलों में खिलाड़ी की क्षमताओं को सुधारने के लिए भी किया जाता है। कुल मिलाकर आजकल फिटनेस के मायने बदल गए हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें