Pregnancy & Care

Everything about Pregnancy and after care.

रविवार, 16 जून 2019

पुत्र प्राप्ति का प्राचीन उपाय - मोर पंख

दोस्तों इस टॉपिक पर आपने काफी सारी POSTस यूट्यूब पर देखे होंगे काफी सारे POST देखने के बाद मन में थोड़ा सा कन्फ्यूजन हो जाता है, कि जो यह उपाय बताए जा रहे हैं, इनको किस ढंग से करना चाहिए  लेकिन हम आपको सारे कंफ्यूजन को क्लियर करते हुए इसे करने के सही तरीके के बारे में बता देते हैं.

pregnancy and care

दोस्तों प्रथम दृष्टि से देखने में यह एक टोटका नजर आता है साथ ही साथ यह एक आयुर्वेदिक उपचार भी नजर आता है इसका कोई भी साइंटिफिक रीजन अभी तक अवेलेबल नहीं है जिससे कि इसकी सत्यता को सिद्ध किया जा सके तो इसे हम एक धार्मिक टोटका समझ कर ही आगे बढ़ते हैं.

You May Also Like : प्रेग्नेंट हो जाने के बाद नारियल द्वारा पुत्र प्राप्ति का तरीका

हम बात कर रहे हैं मोर पंख के द्वारा पुत्र प्राप्ति को लेकर इसमें आपको कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना होता है जैसे कि

यहां यह समझने वाली बात है आपको प्रेगनेंसी होने के 40 दिन के ही आपको यह उपचार करना है यह इंपॉर्टेंट है क्योंकि लगभग 25 से 30 दिन के बाद ही आपको यह कंफर्म होता है कि प्रेगनेंसी है तो फिर आप के बाद 10 से 15 दिन ही बचे हैं जिसमें आप यह है प्रयोग कर सकें क्या कह सकते हैं कि पीरियड मिस होने के 15 दिन के भीतर इस प्रयोग को आपको करना है.

pregnancy ke bad putra paida kerne ka tarika

धार्मिक उपाय हैं इस कारण आप को मोर पंख किसी शुभ अवसर पर ही अपने घर में लेकर आना जैसे कि नवरात्रे होली दिवाली करवा चौथ या कोई भी शुभ दिन उस दिन आपको कुछ मोर पंख घर लेकर आने हैं, क्योंकि है उपाय आपको करना है तो आप प्रेगनेंसी कंफर्म होने से पहले ही किसी शुभ दिन पर उसे घर ले आए और इसे अपनी पूजा में रखे.

You May Also Like : प्रेगनेंसी होने के बाद पुत्र प्राप्ति की आयुर्वेदिक औषधि

 अगर आप इस उपाय को करने की सोच रहे हैं तो आपने यह निर्णय ले लिया होगा कि आपको यह उपाय करना है तो आप जब तक इस उपाय को ना कर ले तब तक आप मिर्च मसालेदार खाना, तीखा खाना और नॉनवेज आपको नहीं लेना है,
कुल मिलाकर आपका पाचन तंत्र स्वस्थ होना चाहिए ताकि जो भी आप यह आयुर्वेदिक मेडिसिन लेती है यह आपके शरीर में अच्छे से पच जाए, क्योंकि अगर मोर पंख जो आप खा रही है उसका कोई आयुर्वेदिक गुण है तो वह आपके शरीर को लगना चाहिए.

You May Also Like : पुत्र प्राप्ति के लिए फेमस आयुर्वेदिक औषधि - बांझपन भी दूर होता है,

अब आप यह उपाय कर रहे हैं तो दंपत्ति को चाहिए कि वह दोनों किसी और तीसरे व्यक्ति से इसके संबंध में चर्चा ना करें इसके कई कारण होते हैं
जब भी आप किसी टोटके को करते हैं तो उसका गुप्त होना बहुत जरूरी होता है उसका असर ज्यादा होता है
दूसरा का वैज्ञानिक है अगर कोई व्यक्ति आपके यहां पुत्र पैदा हो यह नहीं चाहता है उसे पता चलेगा कि आप पुत्र प्राप्ति के लिए उपाय कर रहे हो तो अवश्य ही वह आपके बारे में नेगेटिव सोचेगा और उसकी नेगेटिविटी आपका काम खराब कर सकती है उसकी खराब सोच आप पर असर डालेगी.

, ladka paida karne ka tarika

अगर आप उपाय कर रहे हैं तो आपको इस पर विश्वास होना चाहिए यह भी बहुत जरूरी है.
कुछ और छोटी छोटी बातों का ध्यान रखना है वह हम आपको उपाय बता देते हैं उसके बाद बताएंगे कि आपको किन किन बातों का और ध्यान रखना है.
इस प्रयोग के लिए आपको 3 मोर पंखों की आवश्यकता होगी
मोर पंखों के बीच में जो चांद जैसा भाग नजर आता है  उतने हिस्से को कैची से काट कर निकाल ले.

You May Also Like : साइंस और धर्म विज्ञान दोनों के अनुसार पुत्र प्राप्ति का सटीक उपाय

इन तीनों हिस्सों को अच्छे से पीस लें और उसमें थोड़ा सा गुण मिलाने और इनकी 3 गोलियां बराबर बराबर बना ले आपको सुबह उठकर ब्रह्म मुहूर्त में सूरज निकलने से पहले 3 दिन लगातार यह गोलियां खानी है वह भी गाय के दूध के साथ
अब कुछ बातों का आपको ध्यान रखना होगा हम बता देते हैं.

यह गोलियां खाने के बाद 4 घंटे तक आपको कुछ नहीं खाना है बहुत ज्यादा हो तो आप पानी पी सकती है वह भी 2 घंटे बाद.

You May Also Like : स्त्री के किस अंग पर बाल होना अशुभ माना जाता है
You May Also Like : मनचाही संतान प्राप्ति का प्राचीन तरीका - part #3


जिस गाय का दूध आप लेंगी वह गाय एक बछड़े की मां होनी चाहिए, और गाय का बछड़ा जीवित भी होना चाहिए. आपको ध्यान रखना है कि आप तीनों दिन इसी एक गाय के दूध का ही सेवन करेंगे.

इसमें गुड़ का कोई रोल नहीं है बस इसलिए मिलाया गया है ताकि आप इसे आसानी से खा सकें और गुड़मिलाने से इसकी तासीर में मोर पंख के गुण में कोई परिवर्तन नहीं आता है.

mor pankh se putra prapti

हमने कहा है कि इसे आप ब्रह्म मुहूर्त में खाएं इसका मतलब यह नहीं है कि आप सोते उठते ही इसे खा ले आपको उठना है दैनिक कार्यों से निवृत्त होने के बाद आप नहाए भगवान विष्णु श्री कृष्ण को स्मरण करें उन से पुत्र प्राप्ति की इच्छा रखें उसके बाद आपको इसे खाना है सूरज निकलने से पहले.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें