Pregnancy & Care

Everything about Pregnancy and after care.

शनिवार, 8 जून 2019

पुत्र प्राप्ति के लिए फेमस आयुर्वेदिक औषधि - बांझपन भी दूर होता है

नमस्कार दोस्तों आज की POST में हम आपको एक आयुर्वेदिक मेडिसिन के संबंध में बताने जा रहे हैं जिसको लेकर यह माना जाता है कि यह पुत्र प्राप्ति और बांझपन को दूर करने के लिए उत्तम औषधि है और कंपनी यह भी दावा करती है कि इससे महिला को पुत्र संतान की प्राप्ति भी हुई है और बांझपन तो दूर हुआ ही है.
ayurveda Infertility medicine


दोस्तो आयुर्वेद में जो कंपनी इस टाइम भारत में नंबर 1 पर है वह है पतंजलि जो कि आयुर्वेद में नई नई रिसर्च भी करती है यह कंपनी बाबा रामदेव जी के सानिध्य में अपने कार्य को संचालित कर रही है,

You May Also Like : पुत्र प्राप्ति का ये वैज्ञानिक तरीका एक बार जरूर अपनाये - Putra Prapti Part #2
You May Also Like : इसे खाने से बांझ को भी पुत्र पैदा होता है - Putra Prapti Part #1


यह कंपनी भारत के प्राचीन आयुर्वेदिक ग्रंथों से भी आयुर्वेदिक नुस्खे प्राप्त कर उन्हें दवाइयों के रूप में मार्केट में उतारती है,
ऐसे ही इस कंपनी का एक प्रोडक्ट है जिसे कहते हैं दिव्य पुत्रजीवक बीज.


आयुर्वेदिक औषधि, बांझपन

इस आयुर्वेदिक मेडिसिन का प्रयोग करने पर जो स्त्रियां बांझपन का शिकार होती है उनके हाथ संतान की उत्पत्ति होती है तथा संतान में भी पुत्र प्राप्ति होती है.


You May Also Like : मनचाही संतान प्राप्ति का प्राचीन तरीका - part #3

पिछले कुछ वर्षों पहले इस आयुर्वेदिक दवाई को लेकर विवाद पैदा हो गया था जिसके जवाब में बाबा रामदेव जी ने कहा था कि  यह  बांझपन को दूर करने की दवाई है इसका पुत्र प्राप्ति से कोई भी संबंध नहीं है लेकिन तभी बैक डोर से इसके कुछ कर्मचारियों का कहना था जो कि पंतजलि में कार्य करते हैं कि यह पुत्र प्राप्ति की ही दवाई है और कई महिलाओं को इसका सेवन करने से पुत्र प्राप्ति भी हुए हैं.

You May Also Like : साइंस और धर्म विज्ञान दोनों के अनुसार पुत्र प्राप्ति का सटीक उपाय
You May Also Like : प्रेगनेंसी होने के बाद पुत्र प्राप्ति की आयुर्वेदिक औषधि


दोस्तों हम इस आयुर्वेदिक पुत्रजीवक मेडिसिन पर कोई भी दावा नहीं करते हैं कि यह धन प्राप्ति के लिए है पुत्र प्राप्ति के लिए है कि नहीं है आप अपने विवेक से कार्यालय कार्य करें स्वयं इसका निर्णय लें
इसको लेने का तरीका बता देते हैं आप इसे किसी भी पतंजलि स्टोर से खरीदी इसमें जो फल है उसके बीज निकालकर महीन पीस लीजिए | किसी भी आयुर्वेदिक मेडिसिन को मिक्सिंग के द्वारा पीसने पर उसकी गुणवत्ता में कमी आ जाती है कोशिश कीजिए इसको खरल पर ही पीसे.

beta paida kerne ki ayurvedic dawa

इसके बाद उसे एक समय गाय के दूध से आपको लेना है ध्यान रखें गाय का दूध भी उस गाय का होना चाहिए जिस ने बछड़े को पैदा किया हो.
You May Also Like : प्रेग्नेंट हो जाने के बाद नारियल द्वारा पुत्र प्राप्ति का तरीका
और अधिक जानकारी के लिए आप पतंजलि चिकित्सालय जोकि स्टोर के साथ ही होता है वहां उपस्थित वैद्य से ले सकते हैं .

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें