Pregnancy & Care

Everything about Pregnancy and after care.

गुरुवार, 29 अगस्त 2019

प्रेगनेंसी के दौरान केसर खाना चाहिए या नहीं खाना चाहिए

नमस्कार दोस्तो आज की POST में हम आपसे प्रेग्नेंसी के समय केसर के प्रयोग पर चर्चा करेंगे --
प्रेग्नेंसी के समय केसर लेना चाहिए कि नहीं लेना चाहिए।
लेना चाहिए तो कितनी मात्रा लेनी चाहिए।
प्रेगनेंसी में केसर के लाभ।
प्रेगनेंसी में केसर से किस प्रकार की हानि हो सकती है इस पर चर्चा करेंगे।

pregnancy sideeffect of kesar, pregnancy side effect of saffron

You May Also Like : BABY HAS STOPPED GROWING - गर्भ में बच्चे का विकास रुकने के संकेत

प्रेग्नेंसी में केसर खाएं, लेकिन जरा सम्भलकर :- 
दोस्तों केसर या जाफरान  ठंडे इलाके में पाया जाता है  और इसकी तासीर गर्म है । ठंडे इलाके में इसका प्रयोग अपेक्षाकृत गर्म इलाकों के आसानी से किया जा सकता है और थोड़ी ज्यादा मात्रा में भी किया जा सकता है । गर्म इलाकों में खासकर प्रेगनेंसी में इसका प्रयोग संभलकर करना चाहिए । यह एक लाजवाब औषधि है और शरीर को इसके बहुत से फायदे होते हैं, प्रेग्नेंसी में भी है फायदेमंद होता है लेकिन इसकी संतुलित मात्रा ही हमें फायदा पहुंचाती है । एक बात का ध्यान रखें प्रेगनेंसी के समय गर्म चीजों का प्रयोग ना के बराबर किया जाता है । और केसर की तासीर गर्म होती है इसलिए इसे दूध के साथ ही प्रयोग में लाया जाता है, इस बात का विशेष ध्यान रखें कि एक गिलास दूध के अंदर केसर के 2 – 4  तार ही डालें । 4 तार तो   मैक्सिमम है, और दिन में एक ही बार प्रयोग करें ।

You May Also Like : प्रेगनेंसी से बचने के घरेलू उपाय


जिन महिलाओं को गर्मी की शिकायत ज्यादा होती है प्रेग्नेंसी के समय उन्हें केसर के प्रयोग से बचना चाहिए

केसर के फायदे: 
दुनिया में सबसे मंहगा मसाला या हर्ब, केसर होता है जो कई प्रकार के औषधीय गुणों से भरपूर होता है। लोगों द्वारा इसका इस्तेमाल अक्सर गोरे होने के लिए किया जाता है।
केसर में थियामाइन और रिबोफ्लेविन मौजूद होता है जो कि काफी फायदेमंद होता है। कई लोगों का मानना होता है कि अगर किसी गर्भवती महिला को केसर का सेवन करवाया जाएं, तो उसका बच्चा गोरा पैदा होगा।
You May Also Like : अल्कोहल से जेंडर प्रिडिक्शन 1 मिनट में

1. ब्लड़ प्रेशर: गर्भवती महिला को दिन में सिर्फ एक बार 4 रेशे केसर का सेवन दूध के साथ करना चाहिए, इससे उसका ब्लड़ प्रेशर संतुलित रहेगा और मूड भी अच्छा रहेगा। इसके सेवन से मांसपेशियों में भी राहत मिलती है।
You May Also Like : बेकिंग सोडा और यूरिन से कैसे करते हैं जेंडर प्रेडिक्शन केवल 1 मिनट में - Gender prediction

2.पेट दर्द: गर्भावस्था के दिनों में पेट में ऐंठन होने पर बहुत असहज महसूस होता है, ऐसे में केसर एक दर्दनिवारक के रूप में काम करती है। यह पेटदर्द से आराम दिलाती है।

3.आंखों की समस्या दूर होना:  र्भवती महिलाओं को कई बार आंखों में तनाव महसूस होता है, अगर वह केसर का सेवन दूध डालकर करें, तो उनकी आंखों में आराम मिलेगा, खासकर तब जब उन्हे किसी प्रकार का दृष्टि विकार हों।
You May Also Like : गर्भ में बेटा या बेटी जानने का मिस्र का तरीका

4. किडनी और लीवर की समस्या से मुक्ति: केसर एक प्रकार का ब्लड़ प्यूरीफायर पाउडर होता है जो शरीर में किडनी और लीवर की समस्याओं को दूर कर देता है।
You May Also Like : पल्स विधि द्वारा जेंडर प्रिडिक्शन


5. पाचन: गर्भावस्था के दौरान महिला को पाचन सम्बंधी काफी समस्याएं होती हैं, क्योंकि शरीर में रक्त के संचार में अनियमितता हो जाती है। ऐसे में केसर का सेवन काफी लाभप्रद होता है, इससे पेट दुरूस्त रहता है।
You May Also Like : चाइना में बच्चे का जेंडर पता करने के कुछ प्राचीन तरीके

6. बच्चे के घूमने में: गर्भवती महिला को 5 वें महीने से बच्चे के घूमने का एहसास होने लगता है। केसर युक्त दूध पीने पर यह एहसास ज्यादा अच्छी तरह होता है। इसके सेवन से शरीर का तापमान संतुलित रहता है। लेकिन बहुत ज्यादा मात्रा में केसर का सेवन नहीं करना चाहिए।
You May Also Like : प्रेगनेंसी में निम्बू पानी फायदे का सौदा या घाटे का


Saffron Milk benefit in pregnancy, good helath in pregnancy

You May Also Like : क्या प्रेगनेंसी में मट्ठा (छाछ) पीना चाहिए

नुकसान  : 
यह शरीर की गर्मी में भी काफी वृद्धि करता है, तथा गर्भवती महिलाओं को इस बात की सलाह दी जाती है कि वे इसका ज़्यादा मात्रा में सेवन ना करें, अन्यथा इसके काफी हानिकारक साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं।
You May Also Like : प्रेगनेंसी में पुदीने की चाय पीए कि नहीं पीए
You May Also Like : प्रेगनेंसी में दी जाने वाली बेस्ट ड्रिंक


एक दिन में 10 ग्राम से ज्यादा केसर का सेवन करने से मिसकैरिज का खतरा बढ़ जाता है. दरअसल, केसर हमारी बॉडी हीट बढ़ा देता है, जिसकी वजह से ऐसा होता है.
You May Also Like : प्रेगनेंसी में दही खाना चाहिए कि नहीं खाना चाहिए

2.ज्यादा केसर खाने की वजह से आपको सिर दर्द, बेचैनी, चक्कर आना, मुंह सूखना आदि जैसी समस्या हो सकती है. इनकी वजह से प्रेग्नेंसी में परेशानी पैदा हो सकती है.
3.कुछ महिलाओं को केसर की वजह से उल्टियां शुरू हो जाती हैं.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें