Header Ads

  • Latest

    गर्भावस्था में प्रसव के संकेत - Pregnancy me Delivery ke Sanket

    हम आपसे बात करने वाले हैं डिलीवरी के समय को लेकर हम किस प्रकार से पता लगाएं की डिलीवरी का समय नजदीक आ गया है. डिलीवरी पेन होने वाले हैं.
    दोस्तों इस चीज को लेकर महिलाएं बहुत ज्यादा आशंकित रहती हैं, डरी हुई होती है, डिलीवरी पेन को लेकर उनके मन में तरह-तरह की शंकाएं होती हैं. कई बार तो लेबर पेन से जुड़ी सही जानकारी के अभाव में गर्भवती महिलाएं गंभीर रूप से मानसिक तनाव का शिकार हो जाती हैं. हम बस यही बताना चाहते हैं कि Delivery pain तो होता ही है लेकिन इतना भी ज्यादा परेशानी नहीं होती है, जितनी परेशानी महिला को सोच सोच कर होती है.
    आज हम आपसे लेबर पेन शुरू होने के समय को कैसे जाने उसके क्या-क्या लक्षण होते हैं इस संबंध में चर्चा करने वाले हैं.

    delivery pain symptoms, signs of labor, signs of labor

    You May Also Like : महिला की प्रेगनेंसी और थायराइड पार्ट #3
    You May Also Like : प्रेग्नेंट हो जाने के बाद नारियल द्वारा पुत्र प्राप्ति का तरीका



    महिला की डिलीवरी डेट - Mahila ki Delivery Date
    महिला की डिलीवरी पेन का सीधा संबंध महिला के डिलीवरी डेट से होता है. डिलीवरी डेट को निकालने का बड़ा ही सीधा तरीका है जिस दिन महिला के लास्ट पीरियड शुरू हुए थे, उस दिन से ठीक 40वें हफ्ते का आखरी दिन जो होता है उस दिन डिलीवरी डेट मान ली जाती है.
    अब ऐसा भी नहीं है कि जो डेट निकल कर आई है उसी दिन डिलीवरी प्रिंट शुरू हो जाए उससे दो-चार दिन आगे या पीछे कभी-कभी दस से 12 दिन आगे पीछे भी लेबर पेन शुरू हो सकते हैं.

    जब भी किसी महिला को लेबर पेन या डिलीवरी पेन शुरू होते हैं उसके कुछ लक्षण नजर आने लगते हैं जिनको जानकर आप बड़ी आसानी से अपनी डिलीवरी डेट का पता लगा पाएंगे.

    प्रसव के लक्षण - Prasav ke Lakshan

    दोस्तों हम जो लक्षण आपको यहां बता रहे हैं जरूरी नहीं कि यह सभी के सभी लक्षण एक ही महिला को नजर आए इनमें से कुछ लक्षण किसी एक महिला को नजर आ सकते हैं और दूसरे कुछ लक्षण किसी दूसरी महिला को नजर आ सकते हैं.
    pregnancy delivery time, birth signs, pre labour signs, pregnancy delivery time

    You May Also Like : बच्चे में विकलांगता आने के कारण
    You May Also Like : पुत्र प्राप्ति के लिए फेमस आयुर्वेदिक औषधि - बांझपन भी दूर होता है,


    महिला का पेट खराब होना
    जैसे-जैसे महिला की डिलीवरी पेन का समय नजदीक आता जाता है वैसे वैसे महिला का पेट खराब हो सकता है या तो महिला को कब्ज की शिकायत हो जाती है या फिर डायरिया वगैरह हो जाता है.

    ग्रीवा का आकार बदलना
    जैसे-जैसे डिलीवरी का समय नजदीक आता जाता है वैसे वैसे महिला की ग्रीवा पतली होकर फैलने लगती है यह 10 सेंटीमीटर तक फैल सकती है इस लक्षण के आधार पर यह पहचाना जा सकता है कि डिलीवरी पेन में कुछ ही समय बचा है.


    जोड़ों और मांसपेशियों में खिंचाव 
    जैसे-जैसे डिलीवरी का समय नजदीक आता जाता है कुछ महिलाओं के जोड़ों और मांसपेशियों में खिंचाव सा महसूस होने लगता है यह डिलीवरी पेन का संकेत हो सकता है.

    नींद का अधिक आना
    प्रसव का समय पास आने पर गर्भवती महिलाओं को बहुत नींद आ सकती है। उन्हें कमज़ोरी भी महसूस हो सकती है. इस दौरान गर्भवती महिलाएं बार-बार सोने की कोशिश करती हैं, लेकिन बेचैनी के कारण उन्हें सोने में परेशानी होती है. ये प्रसव के साथ-साथ लेबर पेन शुरू होने के समय के करीब आने का लक्षण हो सकता है.
    You May Also Like : बिना प्रेगनेंसी के भी मिस होते हैं पीरियड Part 1
    You May Also Like : प्रेगनेंसी में नारियल पानी कब पिए, कब नहीं पिए


    शिशु का नीचे की ओर आना
    प्रेगनेंसी के आखिरी दिनों में शिशु धीरे-धीरे नीचे की ओर सरकना शुरू हो जाता है पेट का ऊपरी हिस्सा खाली खाली सा महसूस होने लगता है समझ लीजिए आपके डिलीवरी का समय नजदीक आ गया है लेबर पेन होने में कुछ ही समय बाकी है.

    normal delivery pain,  pregnancy delivery pain,  labour and delivery

    म्यूकस के साथ खून का आना
    गर्भावस्था के पहले महीने में म्यूकस के साथ खून का आना प्रसव प्रक्रिया की शुरुआत होने का लक्षण हो सकता है. जब गर्भाशय ग्रीवा प्रसव के लिए तैयार होने के लिए परिपक्व होना शुरू करती है, तो म्यूकस प्लग बाहर निकलने लगता है, और इसके साथ रक्त भी आ सकता है.
    You May Also Like : सपने में बच्चे दिखाई पड़ना जानिए गर्भ में क्या है बेटा या बेटी
    You May Also Like : महिला के चलने, उठने बैठने से कैसे पता करे गर्भ में लड़का है या लड़की


    महिला की एनर्जी का बढ़ना 
    महिला की एलर्जी का बढ़ना एनर्जी कभी-कभी प्रेग्नेंसी के अंतिम समय में यह भी देखा गया है, कि महिलाओं की एनर्जी एकाएक बढ़ जाती है. और वह अपने आप को काफी एक्टिव महसूस करने लगती हैं यह डिलीवरी से पहले का समय होता है जब आपको डिलीवरी की तैयारी करनी होती है.

    त्वरित भावनात्मक परिवर्तन
    प्रेगनेंसी के अंतिम समय में कुछ महिलाओं के साथ ऐसा होता है कि उनका जो भावनात्मक स्तर है उसमें काफी उतार-चढ़ाव आने लगता है कभी-कभी वह बहुत ज्यादा भावुक हो जाती है कभी-कभी चिड़चिड़ी भी हो जाती हैं. यह सब हारमोंस में तेजी से आने वाले परिवर्तन की वजह से होता है समझ जाइए कि लेबर पेन शुरू होने वाले हैं.
    अगर आपको प्रेगनेंसी के अंतिम दिनों में इन सब में से कुछ लक्षण नजर आने वाले होते हैं तो समझ जाइए कि आपको डिलीवरी पेन शुरू होने वाले हैं.


    प्रेगनेंसी के दौरान पोषण बहुत आवश्यक होता है ऐसे में आराम के साथ साथ अलग से पोषक तत्व लेने की भी आवश्यकता होती है. डॉक्टर्स सप्लीमेंट बताते हैं. आप ऑनलाइन भी ऐसे प्रोडक्ट परचेस कर सकते हैं, जो प्रेगनेंसी को ध्यान में रखकर बनाए जाते हैं. प्रेगनेंसी के दौरान आवश्यक पोषक तत्वों की पूर्ति करते हैं.

    अगर आप ऐसे पौष्टिक Health Drinks  के बारे में जानना चाहती हैं तो हम आपको नीचे एक लिंक दे रहे हैं जिस पर आप जाकर अपनी पसंद का Health Drinks ऑनलाइन खरीद भी सकती हैं.




    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad

    /*################## my map Code ###########*/ /* ########## my code End #######*/