Header Ads

गर्भावस्था में खुजली के घरेलू उपाय - Home remedies for itching in pregnancy

प्रेगनेंसी के दौरान किसी भी गर्भवती महिला को  खुजली आने की समस्या काफी सामान्य होती है. प्रेगनेंसी के दौरान खुजली आने के कौन कौन से कारण हो सकते हैं, तथा खुजली को दूर करने के कौन-कौन से घरेलू उपाय अपनाने चाहिए. जिससे गर्भवती स्त्री और शिशु दोनों सुरक्षित रहें.

गर्भावस्था में खुजली के घरेलू उपाय - Home remedies for itching in pregnancy

गर्भावस्था के दौरान खुजली होने के बहुत सारे कारण होते हैं जैसे कि

  • गर्भ के बनने पर त्वचा में खिंचाव आना
  • वजन के बढ़ने पर त्वचा में खिंचाव आना 
  • सूजन की वजह से खुजली का होना 
  • रक्त प्रवाह का तेज होना और भी दूसरे बहुत सारे इंटरनल कारण होते हैं जिसकी वजह से खुजली होती है. बहुत से कारण तो काफी खतरनाक भी माने जाते हैं.


आइए चर्चा करते हैं कि किस प्रकार से खुजली का इलाज किया जा सकता है. हम आपके सामने कुछ घरेलू उपाय पेश करने जा रहे हैं, जिनसे खुजली को काफी हद तक कम यह समाप्त किया जा सकता.

इन्हें भी पढ़ें : थायराइड में प्रेग्नेंट होने का तरीका
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में नींद पर्याप्त सोना क्यों जरूरी है
इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था के दौरान मिठाई खाने की लालसा

  • खुजली आने का सबसे मुख्य कारण यह होता है कि आपकी त्वचा खुश्क है किसी भी व्यक्ति की त्वचा खुश्क होती है, तो उस पर खुजली बहुत जल्दी फैलती है. इसलिए अपनी स्किन के ऊपर हमेशा तेल लगाकर रखें ऐसा नहीं कि कोई भी तेल लगा ले जैसे कि नारियल तेल वगैरह या दूसरे प्रकार की क्रीम जिससे त्वचा में नमी बनी रहे फायदा होता है.


  • पेट की खुजली को कम करने के लिए महिला बर्फ की सिकाई कर सकती है, या ठंडे पानी में कपड़े को डुबो कर अपने इनफेक्टेड स्किन पर रख सकती है. खुजली कम करने में मदद मिलेगी. साथ ही बर्फ की सिकाई भी की जा सकती है बर्फ के छोटे-छोटे टुकड़ों को बर्फ की सिकाई की बोतल आती है, उसमें डालकर सिकाई करें तो काफी फायदा होता है.


  • गर्भवती महिला सेब के सिरके से भी अपनी खुजली को मिटा सकती है सेब के सिरके को पेट के उस हिस्से पर लगाए जहां खुजली है उससे खुजली भी मिटेगी और रूखे पन से भी छुटकारा मिल जाएगा.


  • नारियल के तेल में आप कपूर मिलाकर उसका भी प्रयोग खुजली को मिटाने के लिए कर सकते हैं. रोज नहाने के बाद, दिन में एक बार आप अपने उस त्वचा पर तेल की मालिश करें. जहां पर खुजली आती है. आप चाहे तो पूरे शरीर पर भी इस तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं. इससे नमी बनी रहती है. यह खुजली को फैलने से रोकती है. यह तभी कार्य करती है. जब खुजली सामान्य हो. कुछ कारण तो काफी बड़े होते हैं शरीर की इंटरनल वजह से भी खुजली आती है तो उनके लिए तो फिर आपको डॉक्टर से सलाह लेनी पड़ेगी. असल में नारियल तेल के अंदर anti-inflammatory गुण होते हैं, और नारियल का तेल त्वचा को मॉइस्चराइज  करता है. 


  • आप ऐसा मॉइस्चराइजर लें, जो सुगंध रहित और सौम्य हो। इस मॉइस्चराइजर को लगाने से खुजली से अस्थाई तौर पर राहत मिल सकती है.


  • खुजली को दूर करने के लिए आप ओटमील से भी स्नान कर सकती हैं. आप बाथ टब में पानी भरे, उसके अंदर एक कटोरी या एक कप ओटमील डाल दें. अब उस बाथ टब के अंदर उसे मिलाकर आप 25 मिनट तक बैठे हैं. इससे आपकी त्वचा पर जो खुजली की तीव्रता थी उसमें काफी कमी आ जाएगी. क्योंकि ओटमील के anti-inflammatory और एंटीबायटिक गुण के चलते आपको खुजली और जलन से राहत मिल जाएगी.

  • ओटमील की तरह ही बेकिंग सोडा को भी हल्के गुनगुने पानी से भरे बाथटब में डाल दें और फिर कुछ देर उसमें बैठें. इससे आपको निश्चित ही आराम मिलेगा। आप बेकिंग पाउडर की जगह बेकिंग सोडा इस्तेमाल करें, यह खुजली और जलन से जल्द आराम दिलाता है.

No comments

Powered by Blogger.