Header Ads


Pregnancy Care items

Main cause of gas in stomach | पेट में गैस का मुख्य कारण - Part #1

आज के इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में गैस की समस्या देश के युवाओं और बड़ी उम्र के व्यक्तियों को काफी ज्यादा प्रभावित करती है. इसके कारण उन्हें काफी ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ता है. ऐसे में हम आज इस बात पर चर्चा कर रहे हैं, कि शरीर में गैस बनने के कौन-कौन से संभावित कारण हो सकते हैं. अगर हम इन्हें जान जाएंगे तो काफी हद तक गैस बनने की समस्या से हमें मुक्ति मिल सकती है.

अगर आप अपनी लाइफ स्टाइल में भी थोड़ा सा परिवर्तन कर पाने में सक्षम होंगे तो आपको काफी हद तक गैस की समस्या से मुक्ति मिल जाएगी.

दोस्तों किसी भी व्यक्ति के पेट में गैस बनने का कारण उसके पेट में अत्यधिक अम्ल की उत्पत्ति आप मान सकते हैं. अर्थात अगर आपके पेट में खाने को पचाने के लिए जितने एसिड की जरूरत होती है. अगर उससे ज्यादा एसिड पेट में बन रहा है, तो गैस की समस्या हो जाती है, यह कुछ कारणों में से एक कारण है.


पेट में अत्यधिक एसिड बनने के अपने कई सारे कारण हो सकते हैं. यह एक अलग टॉपिक है.  इसमें आपका लाइफस्टाइल, आपके भोजन की हैबिट, आपके भोजन के इनग्रेडिएंट अर्थात आप भोजन में क्या-क्या खाते हो. यह सब कारण हो सकते हैं, कि आपके पेट में एसिड अधिक क्यों बन रहा है. कई बार काफी सारी दवाइयों की वजह से भी पेट में एसिड अधिक बनता है, तो आप इन सब पर नियंत्रित रख नियंत्रण करें. और देखें कि आपको पेट में एसिड अधिक इस कारण से बन रहा है.


अधिक एसिड बनने का एक कारण आपके भोजन की हैबिट अभी हमने आपको बताया. 


 होता क्या है कि आपका शरीर एक मशीन है यह एक बायो क्लॉक के ऊपर कार्य करता है इसलिए आपके शरीर के लिए हर चीज का एक निश्चित समय होता है और इसके लिए खाने का भी निश्चित समय होता है अगर आप रोजाना भोजन दिन में 12:00 बजे के आसपास करते हैं और अचानक से आप के लंच के समय में बहुत जल्दी-जल्दी परिवर्तन होने लगा है तो यह गैस बना देता है. 


असल में हम अपने शरीर की गतिविधि को नहीं पहचानते हैं कि यह कैसे कार्य करता है. हमें इसे समझना होगा. हमारा शरीर एक मशीन है और यह बायो क्लॉक के ऊपर कार्य करता है. अर्थात यह समय के अनुसार कार्य करता है. और हमारे शरीर के लिए हर एक कार्य का समय निश्चित होता है. 


अगर आप लंच दिन में 12:00 बजे करते हैं तो उस वक्त आपके शरीर में acid उत्पन्न होने लगता है . इस एसिड को पेट तक पहुंचाने के लिए शरीर को कुछ समय लगता है तो आप ऐसा मान सकते हैं कि यह 12:00 बजे के से पहले ही यह प्रोसेस शुरू कर देता है, कि अब आप भोजन करेंगे.  अगर आप समय से भोजन कर लेते हैं तो आपके शरीर में भोजन समय से पच जाता है और आपको उसका फायदा मिलता है. आप सेहतमंद रहते हैं. 


यह कुछ इसी प्रकार से है जैसे कि अगर आपको 10 किलोमीटर दूर अपने ऑफिस सुबह 9:00 बजे पहुंचना है तो आप अपनी बाइक से लगभग 20 मिनट पहले निकलेंगे. ऐसा तो नहीं है कि आप 9:00 के ऑफिस के लिए घर से 9:00 बजे ही निकलेंगे. और आप अगर 9:00 बजे ऑफिस पहुंच जाते हैं और अचानक से आपको पता चलता है कि ऑफिस तो 10:00 बजे से शुरू होगा तो ऐसा तो नहीं होगा कि आप वापस आएंगे आप वही वेट करेंगे.


अगर आप 12:00 बजे भोजन नहीं करते हैं समय ले लेते हैं तो वह एसिड आपके पेट में तो पहुंच जाता है, और इसकी वजह से फिर आपको गैस बनने लगती है. अगर आप 12:00 बजे भोजन नहीं करते हैं समय ले लेते हैं, तो वह एसिड आपके पेट में तो पहुंच जाता है. और इसकी वजह से फिर आपको गैस बनने लगती है. आपने कई बार सुना होगा कि सुबह से कुछ खाया नहीं है, पेट में गैस बन रही है. 


अगर आप अनियमित तरीके से भोजन करते हैं. आप भोजन का समय निश्चित नहीं करते हैं, और लगातार ऐसा ही करते हैं तो आपको लगातार गैस बनने की समस्या होने लगेगी. अगर आप समय से पहले भोजन कर लेते हैं.
अगर आप 12:00 बजे के आसपास दिन में भोजन करते हैं, और आपने अचानक से भोजन सुबह 11:00 बजे कर लिया है, तो इसमें भी थोड़ी सी समस्या है. 


जिन लोगों का पाचन तंत्र मजबूत होता है, किसी भी प्रकार की कोई समस्या शरीर में नहीं होती है, या वह व्यक्ति काफी शारीरिक मेहनत करता है, तो उन्हें जल्दी से समस्या नहीं होती है.


लेकिन जो व्यक्ति चेयर पर बैठकर कार्य करता है. उसका पाचन तंत्र स्वता ही थोड़ा थोड़ा कमजोर होने लगता है ऐसा व्यक्ति अगर भोजन जल्दी भी कर लेगा तब भी उसे गैस बनने की संभावना बनने लगती है.


 क्योंकि गैस पेट में एसिड अधिक होने की वजह से ही नहीं बनती है अगर आप का भोजन समय से नहीं पचेगा तो भी भोजन पेट में सड़ने लगता है, और उससे गैस बनने की समस्या होने लगती है.


 अगर आप का पाचन तंत्र कमजोर है और आपने आधा घंटा पहले या 1 घंटा पहले भोजन कर लिया है तो आपके पेट में एसिड भोजन को पचाने के लिए समय से नहीं पहुंचेगा तो भोजन अधिक समय तक आपके पेट में रहेगा और आप का पाचन तंत्र वैसे भी कमजोर चल रहा है तो ऐसे में भोजन और अधिक समय तक आपके पेट में रहेगा.


 भोजन अगर 40 मिनट से ऊपर पेट में रहता है तो आपको गैस एसिडिटी और उल्टी ऐसी समस्याएं बनने लगती है.
क्योंकि अगर आपका भोजन पेट में 40 मिनट से ऊपर रहता है या और अधिक समय तक रहता है तो वह सड़ने लगता है और उसमें से गैस बनने लगती है. तब भी आपको गैस की समस्या नजर आती है.


 आपने कई बार देखा होगा कि जब किसी भी व्यक्ति को उल्टी जैसा महसूस होता है या उसे उल्टियां हो रही होती है तो उसका भोजन पेट में ही रहता है और वह सारा भोजन बाहर आ जाता है जबकि उसे भोजन किए हुए कुछ घंटे हो चुके होते हैं अर्थात उसका भोजन नहीं पचता है लेकिन साधारण स्थिति में गैस की समस्या हो जाती है.

No comments

Powered by Blogger.