Header Ads

प्रेगनेंसी के दौरान किस किस प्रकार के सिर दर्द हो सकते हैं

हम प्रेगनेंसी में होने वाले सिर दर्द को लेकर चर्चा करने जा रहे हैं क्योंकि इस दर्द की वजह से प्रेगनेंसी में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है. आज हम चर्चा करने वाले हैं कि –


प्रेगनेंसी के दौरान किस किस प्रकार के सिर दर्द हो सकते हैं,
प्रेगनेंसी में सिरदर्द से कैसे बचें.

इन सब विषय पर चर्चा करेंगे.

What kind of headaches can occur during pregnancy


सिरदर्द के प्रकार - Pregnancy me Headache ke Type

दोस्तों किसी भी महिला को सिर  दर अलग-अलग कारणों से हो सकता है उसी के आधार पर अलग-अलग प्रकार के सिर  दर्द को कुछ कैटिगरीज में बांटा गया है

साइनस हेडेक :

अगर महिलाओं को साइनस की शिकायत है, और वह गर्भवती हो जाती है , तो उसे साइनस की वजह से सिर दर्द की समस्या हो सकती है. इसका मुख्य कारण नाक में रुकावट और बहती हुई नाक माना जाता है. साइनस सिरदर्द की आशंका गर्भावस्था के प्रारंभिक दौर में ज्यादा रहती है. और जैसे ही मौसम ठंडा होता है तो यह समस्या बढ़ भी सकती है.

टेंशन हेडेक : 

टेंशन भी गर्भावस्था के दौरान सिर  दर्द की एक मुख्य वजह होता है. अक्सिर  महिलाएं गर्भावस्था के समय बहुत सी बातों को लेकर तनाव में आ जाती है. कभी-कभी हार्मोन अल चेंज इसकी वजह से भी महिलाओं में तनाव देने की समस्या बढ़ जाती है. जिसकी वजह से महिलाएं अच्छे से नींद नहीं ले पाती हैं. इसका मुख्य लक्षण सिर के दोनों तरफ होने वाला सिर  दर्द होता है, जो कि मांसपेशियों के दर्द से भी जुड़ा हुआ हो सकता है.

माइग्रेन : 

आजकल हर कोई माइग्रेन से परिचित है यह एक दर्दनाक सिर दर्द होता है, जो आमतौर पर सिर के एक तरफ ही महसूस होता रहता है. इसका मुख्य कारण मस्तिष्क में ब्लड सेल्स का विस्तार हो सकता है. इसके कारण कभी-कभी मतली, उल्टी, चमकदार प्रकाश के प्रति असहजता महसूस होना होता है.

अगर महिला प्रकाश चमकदार प्रकाश को कई रंगों में देख लेती है जैसे कि प्रिज्म से जैसा दिखाई पड़ता है तो उसके शरीर में झुनझुनी हो सकती है. इससे पता चलता है कि उसे माइग्रेन की समस्या है.

क्लस्टर सिरदर्द :

यह भी एक  गंभीर सिरदर्द की स्थिति होती है लेकिन यह माइग्रेन से ऑपोजिट होता है. यह हार्मोन हार्मोन अल बदलाव , मासिक धर्म, गर्भनिरोधक दवाओं के उपयोग से और गर्भावस्था की वजह से हो सकता है. क्लस्टर सिर  दर्द के अन्य कारणों में धूम्रपान अल्कोहल का सेवन तेज रोशनी में शामिल होना इत्यादि भी हो सकता है,


प्रेगनेंसी में सिरदर्द से कैसे बचें - Pregnancy me Headache se Kaise bache

प्रेग्नेंसी के समय महिलाओं का शरीर थोड़ा सेंसिटिव हो जाता है ऐसे में सिर दर्द के जोखिम बढ़ जाता है इसमें कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे हो सकते हैं जैसे कि –

 मांस , बंद पैकेट का पनीर अन्य दूसरे बंद पैकेट भोजन जिनकी वजह से सिर दर्द की समस्या हो सकती है.

सिरदर्द की समस्या अगर आपको है तो आप धूम्रपान और अल्कोहल से दूर रहें.अगर आप इनका सेवन करते हैं तो
स्वास्थ्यवर्धक भोजन खाएं अपने भोजन में तरल पदार्थों का सेवन बढ़ाएं.

अगर महिला अत्यधिक तनाव लेती है चिंतित रहती है तब भी सिरदर्द की समस्या हो सकती है महिला को चाहिए कि वह जितना हो सके उतना खुश रहे.

महिला को हमेशा ऐसे स्थानों पर जाने से बचना चाहिए जहां पर शोरगुल ज्यादा होता है.

अगर आप इन सब बातों का थोड़ा ध्यान रखेंगे तो आपको सिर दर्द की समस्या से काफी राहत मिलेगी.
 

No comments

Powered by Blogger.