Header Ads

प्रेगनेंसी में वजन नियंत्रित रखने के 8 तरीके

 
अगर किसी गर्भवती स्त्री का वजन अचानक से कम हो जाता है तो यह उसके गर्भस्थ शिशु के विकास पर उसकी सेहत पर बुरा प्रभाव डाल सकता है. यह होना सही नहीं माना जाता है. अचानक से गर्भावस्था के दौरान वजन कम होना हाइपरिमेसिस ग्रेविडरम की वजह से हो सकता है. इसमें क्या होता है कि गर्भवती महिलाओं को सामान्य से ज्यादा उल्टी आती है वह कमजोर अपने आपको महसूस करने लगती है इस दौरान उसका वजन लगभग 14 से 16% तक कम हो जाता है.

वैसे आज तक इस समस्या की असली वजह पता नहीं चल पाई है, कि हाइपरिमेसिस ग्रेविडरम क्यों हो जाता है, लेकिन माना जाता है कि अगर ब्लड के अंदर प्रेगनेंसी हारमोंस अर्थात ह्यूमन कॉलोनिक गोनेडोटरोपिन की मात्रा बढ़ जाती है तो इस प्रकार की समस्या नजर आती है.

प्रेगनेंसी में अचानक से वजन कम होना नुकसानदायक

वजन को नियंत्रित रखने के कुछ तरीके

प्रेगनेंसी के दौरान महिला के शरीर में हार्मोन अल उत्तल पुथल होती है जिसकी वजह से उसके स्वाद में काफी ज्यादा परिवर्तन आता है उसके खाने-पीने का बिहेवियर चेंज हो सकता है. यह सब उसके वजन पर काफी प्रभाव डालता है महिलाओं को काफी संयम के साथ अपने भोजन को चुनने की आवश्यकता होती है. और साथ ही साथ अपने स्वाद पर काफी नियंत्रण की आवश्यकता भी होती है.

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को ताजे फल सब्जियां ही खानी चाहिए जिनके अंदर प्रोटीन फैट और कैलोरी जैसी चीजें संतुलित मात्रा में होने चाहिए.

महिलाओं को अपने भोजन में ऐसे खाद्य पदार्थ शामिल करने से बचना चाहिए जो कृत्रिम रूप से मिठास रखते हैं जैसे कि जिन्हें मीठा करने के लिए चीनी या शुगर या दूसरे प्रकार के पदार्थों को मिलाया जाता है यह वजन को नियंत्रित करने की क्षमता रखते हैं.

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को चिप्स कैंडी के कुकीज़ इत्यादि खाने से बचना चाहिए और साथ ही साथ दूसरे प्रकार के जंग फूड भी ना लें.

 चाय कॉफी चॉकलेट भी संयमित मात्रा में लेनी चाहिए क्योंकि इनके अंदर कैफीन और वजन को बढ़ाने की क्षमता होती है.

क्रीम, चीज, पनीर और तले भुने पदार्थों को खाने से बचना चाहिए.

आइसक्रीम काफी हद तक वजन को बढ़ाने का कार्य करती है.

साबुत अनाज से बने खाद्य पदार्थों को महिला अपने भोजन में शामिल करें.

No comments

Powered by Blogger.