Header Ads


Pregnancy Care items

क्या गर्भावस्था के दौरान चिकन खाना सुरक्षित है

 प्रेगनेंसी में चिकन खाना चाहिए या नहीं?
  प्रेगनेंसी के दौरान चिकन खाने को लेकर हम चर्चा करने वाले हैं. प्रेगनेंसी के दौरान साग सब्जी खाने को तो लेकर असमंजस नहीं होता है, लेकिन अंडा और नॉनवेज जब खाने की बात आती है, तो थोड़ा सा असमंजस नजर आता है. चिकन को लेकर हम बात करेंगे
क्या गर्भावस्था के दौरान चिकन खाना सुरक्षित है
चिकन कितनी मात्रा में खाना चाहिए,
चिकन कब खा सकते हैं,
चिकन में कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं,
गर्भावस्था के दौरान चिकन खाने के फायदे.

किस तरह से हम चिकन को अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं इन सब बातों पर चर्चा करेंगे.



क्या गर्भावस्था के दौरान चिकन खाना सुरक्षित है चिकन कितनी मात्रा में खाना चाहिए, चिकन कब खा सकते हैं,
इन्हें भी पढ़ें : क्या प्रेगनेंसी में सेब खाना चाहिए
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में कौन सी मछली खाएं, कौन सी नहीं खाएं
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में गुड़ खाते हैं इन बातों का ध्यान रखें
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में केला खाने के फायदे और नुकसान
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में केला खाने को लेकर जरूरी जानकारी

क्या गर्भावस्था के दौरान चिकन खाना सुरक्षित है

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि क्या प्रेगनेंसी के दौरान महिला चिकन खा सकती है, तो हम आपको बता दें गर्भावस्था के दौरान चिकन खाना सुरक्षित हो सकता है. अवस्था के दिन महिलाओं को पोषण कितने अधिक जरूरत होती है, और चिकन में बहुत सारे पोषक तत्व होते हैं, जो गर्भ में पल रहे शिशु को पोषण देने का काम करते हैं. चिकन में प्रोटीन भी अच्छी मात्रा में होती है तो ले सकते हैं.

चिकन कितनी मात्रा में खाना चाहिए

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती स्त्री लगभग 100 ग्राम चिकन तक खा सकती है. हालांकि यह मात्रा एकदम निश्चित नहीं है. आपकी सेहत के अनुसार आप की अवस्था को ध्यान में रखते हुए यह मात्रा थोड़ी बहुत ऊपर नीचे हो सकती है. अगर आप वास्तव में अपने अनुसार मात्रा जानना चाह रही है, तो आप अपने डॉक्टर से इस संबंध में बात कर सकती हैं.

चिकन खाने से जुड़ी सावधानियां

अगर आप प्रेगनेंसी के दौरान चिकन खाना चाह रहे हैं तो आपको थोड़ी सी सावधानी अवश्य रखनी चाहिए.

चिकन को पकाने से पहले आप उसे अच्छी तरह से साफ जरूर करें.

किसी भी गर्भवती स्त्री को कच्चा मांस नहीं खाना चाहिए अगर आप चिकन खाना चाहती हैं तो आपको उसे अच्छी तरह से पका कर ही खाना चाहिए.

चिकन को पकाने के बाद खुला बिल्कुल भी ना छोड़े उसे अच्छी तरह से ढक कर या बंद करके रखें क्योंकि उसमें वातावरण से संक्रमित होने का खतरा काफी ज्यादा रहता है वातावरण में रहने वाले नुकसानदायक कीटाणु उसमें पनप सकते हैं.

अगर आप चिकन खा रही हैं तो इस बात का विशेष ध्यान रखें कि वह ज्यादा तीखा ना हो मसाले अधिक नहीं होने चाहिए.

चिकन की इच्छा की पूर्ति के लिए आप किसी ढाबे या घर से बाहर बने चिकन पर विश्वास बिल्कुल भी ना करें.

आहार में चिकन को शामिल करने के तरीके


प्रेगनेंसी के दौरान आप चिकन करी बनाकर उसे दाल रोटी के साथ सर्व कर सकती हैं यह अत्यधिक उत्तम तरीका प्रेगनेंसी के दौरान माना जाता है.

वैसे आप चिकन को अच्छी तरह से फ्राई करके, कच्चा ना रह जाए इस बात का ध्यान रखते हुए सैंडविच में भी उसका प्रयोग कर सकती हैं.

चिकन सूप भी pregnancy के दौरान उपयोग में लाया जा सकता है.

चिकन को कटलेट की तरह आहार में भी शामिल किया जा सकता है.

चिकन रोल भी खाया जा सकता है पर इस बात का ध्यान रखें आपको चिकन रोल बनाना आना चाहिए. अपनी ही रसोई में तैयार करें.

ग्रिल  or रोस्टेड चिकन का सेवन भी किया जा सकता है.

बस इन सब तरीकों में इस बात का ध्यान रखें कि चिकन अच्छी तरह से पका होना चाहिए.

इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था में स्वस्थ रहने के लिए 5 बेहतरीन जूस
इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था में कब दूध पीना चाहिए और कब नहीं पीना चाहिए
इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था में अमरूद खाने के जबरदस्त फायदे
इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था में लीची का सेवन सुरक्षित है या नहीं

चिकन के पोषक तत्व

मुर्गी के मांस को ही चिकन कहा जाता है इसके अंदर काफी सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे कि इसके अंदर आपको प्रोटीन अच्छी मात्रा में मिलेगा. फैट इसके अंदर होता है. कार्बोहाइड्रेट के अंदर नहीं होता है. इससे आपको ऊर्जा की भी प्राप्ति होती है. आयरन और सोनिया नाम के मिनरल्स उसके अंदर पाए जाते हैं. विटामिंस C इसके अंदर होता है. और कोलेस्ट्रॉल की अच्छी मात्रा भी चिकन में पाई जाती है.

No comments

Powered by Blogger.