Header Ads


Pregnancy Care items

प्रेगनेंसी में लहसुन खाने के क्या फायदे, नुकसान | What are the benefits of eating garlic.

 नमस्कार दोस्तों प्रेगनेंसी के दौरान लहसुन खाने को लेकर तो प्रेगनेंसी के दौरान भोजन खाने में काफी ज्यादा ध्यान रखने की आवश्यकता होती है.

लहसुन भारतीय रसोइयों में बहुत ज्यादा प्रयोग होता है. प्रेगनेंसी के दौरान इसे खाने को लेकर काफी मतभेद है. आज हम इस टॉपिक पर चर्चा कर रहे हैं.

जिसके अंदर हम आपको यह क्लियर करने की कोशिश करेंगे कि आपको इस बात का आइडिया लग जाए कि आपको अपनी प्रेगनेंसी के दौरान लहसुन खाना है या नहीं खाना है. आज के हमारे टॉपिक हैं.
 
लहसुन में कौन कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं.
लहसुन खाने के क्या फायदे होते हैं.
प्रेगनेंसी में लहसुन खाने के क्या नुकसान होते हैं.
क्या प्रेगनेंसी के दौरान लहसुन खाना सुरक्षित होता है.


अगर गर्भावस्था में लहसुन को अपने भोजन में शामिल करना पड़े तो  
कितनी मात्रा में खाना चाहिए .
लहसुन प्रेगनेंसी में कब खाना चाहिए .
इसे अपने भोजन में शामिल करने के क्या तरीके हो सकते हैं. 

इस पर चर्चा करेंगे.—


लहसुन प्रेगनेंसी में कब खाना चाहिए .

लहसुन में कौन कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं


लहसुन का भारतीय रसोई में बहुत ज्यादा प्रयोग होता है. इसका स्वाद लोगों को बहुत ज्यादा पसंद है.

 यह चर्चा करते हैं, कि इसमें कौन कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं. दोस्तों लहसुन के अंदर सेलेनियम विटामिन सी, पोटेशियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, , प्रोटीन, कैलोरी और पानी पाया जाता है. इसके अंदर कोलिन की मात्रा भी काफी अच्छी होती है.


प्रेगनेंसी में लहसुन खाने के फायदे


प्रेगनेंसी के दौरान हाई कोलेस्ट्रॉल के खतरे को कम करने के लिए लहसुन काफी कारगर माना जाता है. अगर हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या होती है, तो इस वजह से गर्भपात और नवजात बच्चे के वजन में काफी कमी आने की संभावना रहती है. लहसुन इस समस्या को दूर कर सकता है.

प्रेगनेंसी के दौरान वजन ना ही अधिक होना चाहिए और ना ही कम होना चाहिए, संतुलित रहना चाहिए. वजन को संतुलित रखने में लहसुन काफी कारगर है.

लहसुन की एक बड़ी अच्छी प्रॉपर्टी है, कि यह हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को दूर करता है. जिसने भी महिला या पुरुष को इस प्रकार की समस्या होती है. उन्हें लहसुन खाना चाहिए. प्रेगनेंसी के दौरान भी कभी-कभी महिलाओं को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो जाती है. जो शिशु के लिए काफी जोखिम भरा होता है लहसुन खाने से इस समस्या से निजात मिल सकती है.

लहसुन हमेशा शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने का कार्य करता है, और प्रेगनेंसी के दौरान महिला की प्रतिरक्षा प्रणाली थोड़ा कमजोर होती है. तो ऐसी स्थिति में लहसुन काफी फायदेमंद हो सकता है.

प्रेगनेंसी में लहसुन के नुकसान


प्रेगनेंसी में लहसुन खाने के कितने सारे फायदे नजर आते हैं, तो कुछ नुकसान भी हैं कि चर्चा करना आवश्यक है.

लहसुन खाने से सीने में जलन हो सकती है. क्योंकि यह प्रकृति में गर्म होता है.
 
इसे खाने से आपके शरीर से और सांसो से दुर्गंध आती है, जो आपको कई जगह काफी असहज स्थिति इसकी वजह से हो जाती है.

जिन महिलाओं को थायराइड की समस्या होती है उन्हें लहसुन का प्रयोग बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए.

ब्लड क्लोटिंग में बाधा पैदा कर सकता है. इस वजह से सिजेरियन बेबी पैदा होने की स्थिति बन जाती है.

लहसुन की वजह से जी मिचलाना और गर्भपात की स्थिति बन सकती है, जैसा कि हमने बताया यह गर्म प्रकृति का होता है.

कभी-कभी लहसुन से पेट दर्द की समस्या भी हो जाती है.

क्या प्रेगनेंसी में लहसुन खाना सुरक्षित है?


जैसे कि हमने अभी चर्चा की है लहसुन कोलेस्ट्रोल को कम करता है. वजन को संतुलित बनाए रखता है.   शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करता है, तो ऐसे में लहसुन का प्रेगनेंसी के दौरान खाया जाना नुकसानदायक नहीं होता है. लेकिन यह गर्म प्रकृति का होता है. इस वजह से यह तभी फायदा करता है, जब इसे आप कम मात्रा में खाए.

प्रेगनेंसी में लहसुन कितनी मात्रा में खाना चाहिए

 
लहसुन के काफी सारे फायदे हैं इसे प्रेगनेंसी के दौरान कितनी मात्रा में लिया जाना चाहिए इसके लिए कुछ स्टडीज भी की गई है. इसकी दैनिक खुराक 600 मिलीग्राम से 1000 मिलीग्राम तक ही होती है. प्रेगनेंसी के लिए हम बता रहे हैं.

 एक रिसर्च में तीसरी तिमाही के दौरान महिलाओं को लहसुन की 800 मिलीग्राम मात्रा प्रतिदिन दी गई. उसके कोई खास गंभीर साइड इफेक्ट नजर नहीं आए लेकिन आप 1 दिन या 2 दिन छोड़कर इसका सेवन कर सकती हैं तो कोई भी साइड इफेक्ट्स का नजर नहीं आएगा.

बस आप को संतुलित मात्रा में इसका प्रयोग करना है, और सबसे अच्छा तो यही रहेगा कि आप अपने डॉक्टर से भी एक बार जरूर पूछें.

प्रेगनेंसी में लहसुन कब खाना चाहिए


लहसुन को एक जड़ी बूटी माना गया है इसके खाने के काफी फायदे भी होते हैं, लेकिन यह गर्म प्रकृति का होता है.  इसलिए आप कोशिश करें कि शुरू के 3 महीने इसका आप बिल्कुल भी सेवन ना करें. अगर आपको किसी भी प्रकार से गर्भपात की समस्या आ रही है, तो आप इसे पूरी प्रेगनेंसी के दौरान बिल्कुल भी ना खाएं. और खाने से पहले अपने डॉक्टर से जाना ले.

भारत के अंदर लहसुन को सब्जी को फ्राई करने के लिए प्रयोग में लाया जाता है, और इसका प्रयोग सूप में भी किया जाता है.


No comments

Powered by Blogger.