Header Ads


Pregnancy Care items

What not to eat in the eighth month of pregnancy | प्रेगनेंसी के आठवें महीने में कैसा भोजन नहीं खाए

 प्रेगनेंसी के आठवें महीने में महिलाओं को कौन कौन से भोजन फायदेमंद होते हैं. और किस प्रकार का भोजन करने से महिला को बचना चाहिए, इस संबंध में चर्चा करने जा रहे हैं.

हमने आपसे प्रेगनेंसी के आठवें महीने में महिला के सारे बदलाव,, लक्षण और शिशु के विकास के संबंध में चर्चा की थी.
आपको आठवें महीने के लिए अपने आवश्यक भोजन के संबंध में जानकारी अवश्य प्राप्त होगी.

प्रेगनेंसी के आठवें महीने में कैसा भोजन खाए

प्रेगनेंसी के आठवें महीने में कैसा भोजन खाए


वैसे तो आजकल डॉक्टर महिला की सेहत को ध्यान में रखते हुए अलग-अलग प्रकार के अनुपूरक अर्थात सप्लीमेंट महिला को प्रिसक्राइब करते हैं. साथ ही साथ बाजार में हेल्थ ड्रिंक भी आते हैं. जिन्हें भी डॉक्टर प्रिसक्राइब करते हैं.

लेकिन यह सब नेचुरल खाद्य पदार्थों का स्थान नहीं ले सकते हैं. नेचुरल खाद्य पदार्थ महिला के शरीर की और शिशु के शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को और रोगों से लड़ने की क्षमता को काफी मजबूत करते हैं.  

कार्बोहाइड्रेट युक्त पदार्थ

प्रेगनेंसी के आठवें महीने में माता और शिशु के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए महिला को अपने भोजन में कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थों को अच्छे से शामिल करना चाहिए.

कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थों के लिए महिला अपने भोजन में पालक, फलियां, अनाज बल्कि साबुत अनाज, आलू और गर्मियों के मौसम में जामुन और तरबूज अपने भोजन में शामिल कर सकती है.

फाइबर के लिए खाद्य पदार्थ

गर्भावस्था के आठवें महीने में शिशु का आकार लगभग लगभग पूरा हो जाता है. ऐसे में महिला के शरीर के अंदर जगह की कमी पड़ने लगती है, पाचन तंत्र को अपना कार्य करने के लिए पूर्ण रूप से स्थान नहीं मिल पाता है, जिसके कारण महिला को कब्ज की समस्या नजर आने लगती है.

ऐसे में इस समस्या को ध्यान में रखते हुए महिला को अपने भोजन में आसानी से पचने वाले भोजन के साथ-साथ फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों का इस्तेमाल करना चाहिए. जैसे की हरी सब्जियां जिसमें लौकी, तोरी और दूसरे हरी सब्जियां शामिल है असल में सब्जियां मौसमी होती है तो आपको उस मौसम के अनुसार सब्जियों का चयन करना चाहिए.
महिला को चोकर वाले आटे का प्रयोग अपने भोजन में करना चाहिए यह सब काफी फायदेमंद रहता है.

प्रोटीन के लिए खाद्य पदार्थ

प्रोटीन भी प्रेगनेंसी के दौरान काफी महत्वपूर्ण पोषक तत्व होता है आठवीं महीने में प्रोटीन की अत्यधिक आवश्यकता होती है.  इस वक्त तो बच्चे का आकार लगभग लगभग पूरा हो चुका होता है वह अपने आकार को गर्भावस्था के अनुसार पूरा कर चुका होता है. ऐसे में प्रोटीन की डाइट पर ध्यान देना भी अत्यधिक आवश्यक है. अगर आप मांसाहार का सेवन करती हैं तो प्रोटीन का सबसे अच्छा स्रोत मछली और चिकन को माना जाता है और अंडा भी इसमें शामिल हैं.

आप उस मछली का प्रयोग बिल्कुल भी ना करें जिसके अंदर मरकरी पाया जाता है इस बात का आप विशेष विशेष विशेष ध्यान रखें अगर आपको यह नहीं पता है कि आप जो मछली खा रहे हैं उसके अंदर मरकरी है या नहीं है तो आप बिल्कुल भी मछली नहीं खाएं इसके लिए आप शाकाहारी ऑप्शन भी देख सकते हैं,  इसके लिए आप दूध दही और सोया का प्रयोग, प्रोटीन के लिए कर सकते हैं. बस दही को रात में ना खाएं

विटामिन और खनिज युक्त खाद्य पदार्थ

प्रेगनेंसी के आठवें महीने में विटामिन और खनिज युक्त खाद्य पदार्थ की भी अत्यधिक आवश्यकता होती है. आने वाला महीना डिलीवरी का होता है. उसमें खून भी बहता है इसलिए महिला को आवश्यक विटामिन खनिज लवण जिसके अंदर कैल्शियम और आयरन होता है. भरपूर मात्रा में लेना चाहिए. आयरन खून बनाने के कार्य में प्रयोग होता है, इसलिए इनका महत्व प्रेगनेंसी के अंत में बढ़ जाता है.

इसके लिए आप आहार में हरे पत्ते वाली सब्जियां, पालक, सूखे फल ,खुमानी, दुग्ध उत्पाद, मछली,  केले व नट्स को शामिल करना चाहिए.

प्रेगनेंसी के आठवें महीने में कैसा भोजन नहीं खाए

प्रेगनेंसी के आठवें महीने में महिला को कुछ विशेष प्रकार के भोजन से परहेज करना चाहिए इसके अंदर महिला को चाहिए कि वह 


•    अल्कोहल और तंबाकू का इस्तेमाल करना बिल्कुल बंद कर दे.

•    महिलाओं को सॉफ्ट चीजें खाने से बचना चाहिए इसके अंदर लिस्टेरिया नामक बैक्टीरिया होने का डर होता है जो गर्भ अवस्था में नुकसानदायक होता है.

•    महिला को कैफीन युक्त खाद्य पदार्थों को भी बिल्कुल नहीं खाना चाहिए. इसके अंदर चाय, चॉकलेट और कॉफी आती है.

•    महिला को कच्चा मांस और कच्चा अंडा खाने से 100% परहेज करना चाहिए. इससे किसी भी प्रकार का वायरस अटैक हो सकता है, संक्रमण हो सकता है.

•    महिला को प्रेगनेंसी के अंदर कच्चा दूध बिल्कुल भी प्रयोग में नहीं लाना चाहिए.

•    मछलियों को खाने में विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है मशीनों में मछलियों के अंदर मरकरी पाया जाता है कुछ मछलियों में तो यह अत्यधिक पाया जाता है तो मछलियों खाने से बचें. ऐसी ही मछलियां खाए जिनके अंदर मरकरी बहुत कम मात्रा में होता है या नहीं होता है.

No comments

Powered by Blogger.