प्रेगनेंसी में मेथी के फायदे और मेथी खाने के नुकसान – methi ke fayde

0
257

आयुर्वेद के अंदर मेथी (methi in hindi) का बहुत व्यापक रूप से प्रयोग किया जाता है. यह बहुत सारे औषधीय गुण लगती है.

आज हम प्रेगनेंसी के दौरान मेथी दाना खाने के फायदे (methi dana ke fayde) को लेकर और प्रेगनेंसी के दौरान मेथी दाना खाने के नुकसान को लेकर चर्चा कर रहे हैं.

प्रेगनेंसी में मेथी के फायदे और मेथी खाने के नुकसान - methi ke fayde

प्रेगनेंसी में मेथी के फायदे – Pregnancy me methi khane ke fayde

प्रेगनेंसी के दौरान मेथी दाना खाने के फायदे (methi dana ke fayde) कुछ इस प्रकार से हैं.

  • गर्भावस्था के दौरान होने वाली शुगर में मेथी दाना (methi dana) काफी फायदेमंद होता है.
  • जिन महिलाओं को दूध ना बनने की समस्या होती है अगर वह प्रेग्नेंसी के समय मेथी दाने का प्रयोग करती हैं तो दूध को बनाने वाले हारमोंस एक्टिव हो जाते हैं स्तनपान में सुधार होता है जो कि बच्चे के लिए अत्यधिक जरूरी है.
  • प्रेगनेंसी के अंतिम समय में अगर आप मेथी का प्रयोग करते हैं, तो यह संकुचन को पैदा करने का कार्य करता है. और प्रसव पीड़ा को प्रेरित करता है. जिससे प्रसव कम समय में ही हो जाता है. कम पीड़ा का सामना करना पड़ता है.
  • कभी-कभी हारमोंस में बदलाव के कारण प्रेग्नेंसी के स्तन की वृद्धि रुक जाती है. मेथी का प्रयोग करने से यह प्रक्रिया दोबारा से शुरू होने के काफी चांस होते हैं.

इन्हें भी पढ़ें : क्या प्रेगनेंसी के दौरान मेथी दाना खाना सुरक्षित होता है

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में मशरूम खाने के 7 फायदे

इन्हें भी पढ़ें : नवजात शिशु के शरीर से बाल हटाने के 7 तरीके

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के दौरान सिर दर्द के 6 घरेलू उपाय

इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था के दौरान उच्च बीपी के लिए 9 घरेलू उपचार – 9 Home remedies

प्रेगनेंसी में मेथी खाने के नुकसान – Methi ke Nuksan

प्रेगनेंसी के दौरान मेथी अनियमित मात्रा में खाने से मेथी खाने के नुकसान नजर आ सकते हैं जैसे कि…

  • मेथी का प्रयोग प्रेगनेंसी के दौरान संभल कर ही करना चाहिए वरना यह संकुचन पैदा करने का कार्य भी करता है समय से पहले भी प्रसव हो सकता है. इसलिए कहा जाता है मेथी का प्रयोग करने से पहले एक्सपर्ट की राय अवश्य लें.
  • मेथी का प्रयोग अनियमित तौर पर करने से होने वाले बच्चे में कुछ जन्म दोष मानसिक विकार इत्यादि होने का खतरा रहता है कभी-कभी रीड की हड्डी का पूर्ण विकास नहीं होता है.
  • प्रेगनेंसी के दौरान कभी-कभी कुछ महिलाओं को मेथी से एलर्जी हो सकती है जिसकी वजह से सांस लेने में तकलीफ, सीने में दर्द, त्वचा पर छाले, दाने, खुजली, या त्वचा पर सूजन या छाती गले में जकड़न की समस्या हो सकती है.जैसा कि हमने पहले भी बताया है मेथी दाना डिप्रेशन को कम करने के काम में आता है अगर आप पहले से ही एंटी डिप्रेशन मेडिसिंस ले रही हैं तो आपको मेथी दाने का प्रयोग नुकसान दे सकता है.
  • मेथी दाने के प्रयोग से शरीर से बदबू आने का खतरा रहता है पसीने में बदबू आती है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें