Header Ads

#htmlcaption1 Go UP! Pure Javascript. No jQuery. No flash. #htmlcaption2 Stay Connected

प्रेग्नेंसी के पांचवे महीने में आने वाले लक्षण - Fifth month symptoms of pregnancy

दोस्तों प्रेग्नेंसी का पांचवा महीना ही नहीं बल्कि सभी महीने काफी सावधानी पूर्वक बिताने चाहिए इस महीने महिला के शरीर में कौन-कौन से शारीरिक लक्षण नजर आते हैं इस संबंध में चर्चा करने वाले हैं.

दोस्तों इस महीने बहुत से लक्षण वह भी होंगे जो हमने चौथे महीने में बताए थे. कुछ महिलाओं को यह लक्षण चौथे महीने में नहीं आते हैं 5 महीने में आ जाते हैं.



  • प्रेग्नेंसी के पांचवे महीने में कभी-कभी महिलाओं की नाक से खून आने की शिकायत हो जाती है. यह देखकर महिलाएं कभी-कभी घबरा जाती हैं माना जाता है कि यह एक सामान्य प्रक्रिया है क्योंकि शरीर मंं रक्त का संचार बढ़ने से इस तरह की समस्या कभी कभी आ जाती है.
  • इस महीने से शिशु का विकास काफी तेजी से होता है. जिसके लिए आवश्यक पोषक तत्व की आवश्यकता पड़ती है. एनर्जी की बहुत ज्यादा आवश्यकता होती है और शरीर को आवश्यक एनर्जी प्राथमिकता के तौर पर उपलब्ध करानी पड़ती है. जिसकी वजह से शरीर में एनर्जी की कमी हो सकती है जो चक्कर का कारण हो सकता है.

    इन्हें भी पढ़ें : मनचाही संतान प्राप्ति का प्राचीन तरीका - part #3
    इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी का अच्छे से ध्यान रखने के बाद भी बच्चे में विकलांगता क्यों आ जाती है
  • पिछले कुछ महीनों की तरह इस महीने भी कब्ज और गैस की समस्या महिलाओं को हो सकती है.
  • अत्यधिक हार्मोन अस्थिरता के कारण कभी-कभी महिलाओं को याददाश्त में कमी की शिकायत हो जाती है वह कभी कभी चीजों को भूलने लगती हैं.
  • इस महीने महिलाओं को लिकोरिया की समस्या का सामना करना पड़ सकता है.
  • पांचवे महीने में महिला के पैरों में , हाथों में सूजन होना आम बात होती है इसमें घबराने की आवश्यकता नहीं होती है. वैसे तो यह समस्या कुछ महिलाओं में इससे पहले महीनों में भी आ सकती है.
  • इससे पहले महीनों में या पांचवे महीने में महिलाओं को सांस लेने में तकलीफ होने की समस्या का सामना करना पड़ सकता है. यह तकलीफ प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन में बढ़वार की वजह से होती है लेकिन पांचवें महीने में यह समस्या अधिक वजन बढ़ने की वजह से भी हो सकती है.
  • प्रेगनेंसी के दौरान गैस और एसिडिटी की समस्या कॉमन बात है इसकी वजह से कभी-कभी गैस दिमाग में चढ़ जाती है और गैस चढ़ने की वजह से सर दर्द की समस्या भी आम हो जाती है
  • शिशु का विकास काफी तेज गति से हो रहा है इस महीने महिलाओं को पीठ में दर्द होने की समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है कुछ महिलाओं को अक्सर पूरी प्रेगनेंसी में पीठ दर्द की समस्या का सामना करना पड़ता है.
  • जैसे-जैसे शिशु का विकास रफ्तार पकड़ता जाता है महिलाओं को थकान की समस्या भी बढ़ती जाती है 5 महीने से यह समस्या थोड़ी ज्यादा नजर आती है.

    इन्हें भी पढ़ें : गर्भ में क्या है यह जानना है तो यह 5 लक्षण देखिए
  • प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही में देखा जाता है कि अक्सर महिलाओं के नाखून थोड़ा कमजोर हो जाते हैं लेकिन कुछ मामलों में या मजबूत भी होते हुए देखे गए हैं. 


No comments

Powered by Blogger.