Header Ads

प्रेगनेंसी में कब्ज से बचने के 14 उपाय | 14 home remedies

कब्ज की समस्या के निदान को लेकर चर्चा करने वाले हैं आज हम आपसे बात करेंगे
गर्भावस्था के दौरान कब्ज को कैसे रोके
कब्ज का क्या इलाज होता है
कब्ज के लिए घरेलू उपचार कौन-कौन से हो सकते हैं
कब्ज की रोकथाम के लिए कौन कौन से खाद्य पदार्थ अपने भोजन में शामिल करें

इत्यादि आइए चर्चा करते हैं

Ways to prevent constipation in pregnancy and 14 home remedies

गर्भावस्था के दौरान कब्ज को कैसे रोके - Pregnancy me Kya kareKabj na Ho

अगर गर्भवती महिला को इस बात का एहसास हो रहा है कि उसे कब्ज की समस्या हो रही है जैसा कि हमने पहले वीडियो में बताया था कौन-कौन से लक्षण नजर आते हैं. वह लक्षण आपको नजर आ रहे हैं, तो आप उसके लिए अपनी दिनचर्या में कुछ परिवर्तन कर सकती हैं.

कब्ज की समस्या नजर आने पर कुछ परिवर्तन अपने भोजन में भी करना आवश्यक है.
अगर कब्ज की समस्या नजर आ रही है तो आपको अपने भोजन में तरल पदार्थ अधिक शामिल करें जैसे कि तरल पदार्थ के अंदर दालें, दूध, दही, लस्सी, शरबत, जूस जो भी लिक्विड फॉर्म में होती हैं उन्हें अपने भोजन में अधिक लें. आपको दिन में कम से कम 2 से ढाई लीटर पानी अवश्य पीना है.

आप कभी भी भोजन एक साथ अधिक ना खाएं आपको थोड़ा-थोड़ा भोजन खाना है ताकि वह आसानी से पचता रहे.

आपको अपने डॉक्टर की सलाह पर या योगाचार्य के निर्देशन में प्रेगनेंसी में किए जाने वाले योगा अवश्य करने चाहिए इससे पाचन तंत्र मजबूत बना रहेगा. साथ ही साथ आपको सुबह और शाम जब भी समय मिले पैदल चलना चाहिए.

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में पेट दर्द के 10 कारण
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के दौरान पेट में कितने प्रकार के दर्द होते हैं
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के दौरान सिर दर्द के 6 घरेलू उपाय
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में क्या खाएं बच्चे का दिमाग तेज हो

कब्ज का क्या इलाज होता है - Pregnancy me Kabj Ka Ilaj

कब्ज के अंदर मल आंतों में जम जाता है. आंतों में पानी की कमी हो जाती है. इसके लिए डॉक्टर जो भी मेडिसन देंगे उनके कुछ कार्य इस प्रकार से होंगे.

डॉक्टर ऐसी मेडिसिन लिखेंगे जो प्रेगनेंसी के दौरान ली जा सकती हो , जिससे प्रेगनेंसी को नुकसान नहीं होता है. आप इस बात का विशेष ध्यान रखें आप जो भी मेडिसन लेकर , डॉक्टर की सलाह पर ही ले. अपने आप बिल्कुल भी ना लें.  और उसके कितनी मात्रा लेनी है यह भी डॉक्टर से अवश्य पूछें .

डॉक्टर आंतों के मल को पतला करने लिए मेडिसिंस लिख सकते हैं. जिससे कि आपकी आंतों से मल साफ हो जाए. साथ ही साथ  आपको डॉक्टर ऐसी भी दवाई लिखेंगे जिससे आपकी आंतों में चिकनाहट आ जाए और मल निकलने में आसानी हो.

कुछ दवाइयां ऐसी भी होती हैं जो आंतों में पानी को इकट्ठा करने का काम करती है. जिससे कि मल उसमें घुल जाए और आसानी से बाहर निकल जाए.

कब्ज के लिए घरेलू उपचार कौन-कौन से हो सकते हैं - kabj ki Home Remedies


प्रेगनेंसी के दौरान कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए हम आपको कुछ घरेलू उपाय बताएं उससे पहले हम आपको बता दें कि आप इन उपायों को भी किसी आयुर्वेदाचार्य के संपर्क में रहकर ही करें तो ज्यादा अच्छा है या कुछ उपाय ऐसे भी हो सकते हैं जिन्हें घर की महिलाएं पहले से करती चली आ रही है तो वह भी सिर्फ माने जाते हैं.

आप कब्ज की समस्या को देखते हुए एक कटोरी दही आप रोज खाएं. बस ध्यान रहे एक दही ज्यादा खट्टी नहीं होनी चाहिए, ताजी होनी चाहिए. और आपको खांसी जुखाम की समस्या भी नहीं होना चाहिए.

आप फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों को अपने भोजन में शामिल करें यह कब्ज को तोड़ने के लिए काफी उत्तम उपाय माना जाता है.

इन्हें भी पढ़ें : स्वस्थ गर्भावस्था के 5 उपाय | Part 1
इन्हें भी पढ़ें : फोलिक एसिड की कमी से नुकसान
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में एनीमिया के लक्षण - आयरन की कमी
इन्हें भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी में कैल्शियम की आवश्यकता

कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए आप मसाज का सहारा ले सकती हैं किसी जानकार व्यक्ति से कब्ज के लिए आप मसाज करवा सकते हैं.

एक्यूपंचर भी एक ऐसा तरीका है जो बिना मेडिसन के केवल शरीर के कुछ आवश्यक अंगों को दबाकर ही कब्ज की समस्या को दूर कर सकता है. एक्यूपंचर स्पेशलिस्ट से आप सलाह कर सकते हैं.

आप कब्ज के दौरान ऐसे फलों का सेवन अपने भोजन में करें जिनमें अधिक रस होता है.

पर्याप्त मात्रा में पानी पीना ही कब्ज की समस्या को होने नहीं देता है अगर कब्ज की समस्या है तो आपको पर्याप्त मात्रा में पानी पीना अत्यधिक आवश्यक है यह आपको हाइड्रेट भी रखेगा.

नींबू के अंदर सिट्रिक एसिड होता है. जो पाचन तंत्र को मजबूत करने के काम में आता है. आप एक गिलास गर्म पानी में आधे नींबू का रस मिला दे, इसमें आप शहद भी मिला सकते हैं. दिन में दो बार इस मिश्रण का प्रयोग करें, आपको फायदा अवश्य होगा.

कब्ज को दूर करने के लिए अलसी के बीज का प्रयोग भी किया जाता है इसे कैसे लेना है आप किसी आयुर्वेदाचार्य से जान सकते हैं मैं आपकी प्रेगनेंसी के नेचर और आपकी हेल्थ को ध्यान में रखते हुए इसकी मात्रा निर्धारित करेगा.

कब्ज के लिए कुछ व्यायाम भी काफी अच्छी माने जाते हैं जिस की सलाह आप किसी योगाचार्य से ले सकते हैं. और उस के सानिध्य में रहकर योगा कर सकते हैं. आपको कब्ज को दूर करने के लिए पैदल घूमना , तैराकी करना काफी सही रहेगा. इसके लिए आप प्रेगनेंसी में किए जाने वाले कुछ योगा का भी इस्तेमाल कर सकती हैं.

तरबूज और कीवी भी ऐसे फल हैं जो कब्ज को दूर करने में काफी मदद करते हैं.

आपको अपने भोजन में ज्यादा तेल वाला भोजन खाने से बचना है.
आप ऐसे खाद्य पदार्थ अपने भोजन में शामिल ना करें जो देर से पचते हो. देर से पचने वाले खाद्य पदार्थ रात में बिल्कुल भी ना खाएं.  

अरंडी के तेल को रात के समय दूध में मिलाकर पीने से कब्ज में काफी राहत मिलती है इसकी मात्रा आप आयुर्वेदाचार्य से जाने कि आपके लिए कितनी मात्रा उचित रहेगी.

आप प्रेगनेंसी के दौरान दो से तीन गिलास रोज नारियल पानी का सेवन भी कर सकती हैं. यह भी कब्ज को तोड़ने में काफी मदद करेगा.

No comments

Powered by Blogger.