Header Ads

प्रेगनेंसी के बाद बाल झड़ना - लक्षण, कारण और देखभाल | Hair loss after pregnancy - symptoms, causes and care

दोस्तों प्रेगनेंसी के बाद कई प्रकार की समस्याएं महिलाओं को नजर आ सकती है. उनमें से एक समस्या बाल झड़ने की है. हम प्रेगनेंसी के बाद बाल झड़ने की समस्या को लेकर चर्चा करेंगे.

गर्भावस्था के बाद बाल क्यों झड़ते हैं.
क्या गर्भावस्था के बाद बाल झड़ना आम बात है.
बाल झड़ने के कौन-कौन से लक्षण नजर आते हैं.
बाल झड़ने के कारण,
बाल झड़ने के बाद बालों की देखभाल पर चर्चा करेंगे.


प्रेगनेंसी के बाद बाल झड़ना - लक्षण, कारण और देखभाल

प्रेगनेंसी के बाद बाल झड़ना क्या सामान्य है

गर्भावस्था के बाद बाल झड़ते हैं. इसका मुख्य कारण क्या है.

पहले हम बालों की जीवनकाल को समझ लेते हैं. बाल के जीवन काल को तीन हिस्सों में बांटा गया है.
पहले हिस्से में वह काफी Grow करते हैं, बढ़ते हैं. तीसरे हिस्से में बाल झड़ते हैं. जो दूसरा हिस्सा होता है, वह उन दोनों के बीच का पीरियड होता है जब बाल ग्रोथ करने की स्टेज से कमजोर होने की स्टेज में आते हैं, और झड़ जाते हैं.

प्रेगनेंसी के दौरान जब महिला के शरीर में हारमोंस बदलाव बहुत ज्यादा होने लगते हैं, तो इस वजह से जो बालों का पहला चरण है, वह हद से ज्यादा लंबा हो जाता है. अर्थात बाल नहीं झड़ते और इसलिए प्रेगनेंसी के बाद महिला के बाल झड़ने लगते हैं.

यह वह बाल होते हैं जो प्रेगनेंसी के दौरान झड़ जाने चाहिए थे, लेकिन हार्मोनअल चेंज की वजह से नहीं झड़ते हैं. वह धीरे-धीरे झड़ने लगते हैं.

इसे आप कह सकते हैं कि अक्सर महिलाओं के बाल जब प्रेगनेंसी के बाद झड़ते हैं, तो यह सामान्य माना जाता है. क्योंकि लगभग 30% बाल ऐसे होते हैं जो थर्ड स्टेज में होते हैं. इसलिए 100 से अधिक बाल रोज झड़ सकते हैं.

प्रेगनेंसी के बाद बाल झड़ने के कौन-कौन से लक्षण नजर आते हैं


ऐसे कुछ विशेष लक्षण नजर नहीं आता है. जिससे आपको यह पता लगे कि बाल झड़ने लगे हैं. लगभग 80 से लेकर 125 तक बाल महिला के रोज झड़ सकते हैं.

असल में महिलाओं के बाल लंबे होते हैं. तो वह बहुत ज्यादा नजर आते हैं. सर पर कंघी करने के बाद, शैंपू करने के बाद बाल गुच्छे के रूप में झड़ते हुए नजर आते हैं.

यह थोड़ी सी तनाव की स्थिति बन जाती है, लेकिन आपको यह बात अपने दिमाग में रखनी है, कि यह वह बाल है जो 9 महीने तक नहीं झड़े अब उनका टाइम है.

बाल झड़ने के कारण

  • प्रेगनेंसी के दौरान महिला के शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर काफी बढ़ जाता है, जो बालों की जड़ों को काफी मजबूती प्रदान करता है, और महिला के बाल घने हो जाते हैं.


  • लेकिन प्रेगनेंसी के बाद जब एस्ट्रोजन का स्तर सामान्य हो जाता है, तो कुछ बालों की जड़ें सुप्त अवस्था में चली जाती हैं, और वह धीरे-धीरे झड़ने लगते हैं.


  • प्रेगनेंसी के दौरान महिला के शरीर में हुए पोषक तत्व की कमी भी, बाद में बाल झड़ने का कारण होती है.


  • अगर महिला को किसी प्रकार का संक्रमण लग जाता है, महिला के बालों में तो भी बाल झड़ सकते हैं.


  • अगर महिला PCOS का शिकार है. पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम कहते हैं, उसमें भी डिलीवरी के बाद बाल झड़ते हैं.


  • जिन महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान हाइपर थायराइड की समस्या होती है. डिलीवरी के बाद उनके बाल झड़ते हैं.


  • अगर महिला को किसी भी प्रकार की एलर्जी प्रेगनेंसी के बाद उसकी स्किन में हो जाती है. खासकर सिर की स्किन में हो जाती है, तो भी महिला के बाल झड़ने लगते हैं.


  • अगर महिला के मन में किसी प्रकार का अवसाद घर कर जाए. वह तनाव में रहने लगे, तो इस प्रकार के हारमोंस उत्सर्जित होते हैं, जो बालों के झड़ने के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं.


  • अब घर में शिशु आ गया है, तो महिला अक्सर उसकी देखभाल में इतनी ज्यादा इन्वॉल्व हो जाती है, कि वह अपने पोषण का ध्यान रखें नहीं पाती. अपने खाने का ध्यान नहीं रख पाती है. ढंग से सोना, उठना भी नहीं हो पाता है. तो ऐसे में कुपोषण का शिकार महिला हो सकती है. बाल झड़ सकते हैं.


  • अगर महिला को एनीमिया की शिकायत है, या थायराइड की शिकायत बनी हुई है. महिला के भोजन में पोषक तत्वों की कमी है, या महिला को किसी बात को लेकर अधिक तनाव है, या महिला का स्वास्थ्य ठीक नहीं चल रहा है. इन सब कारणों से भी महिला के बाल झड़ सकते हैं.

झड़ते बालों की देखभाल

आप यह मानकर चलें कम से कम आप के सिर के 30% बाल ऐसे हैं, जो कमजोर हो चुके हैं, और जिनकी लाइफ समाप्त हो चुकी है, तो आप कुछ विशेष बातों का ध्यान रखें.

  • आपको अपने सिर के बाल कस कर नहीं बांधने हैं. इससे कमजोर जड़ वाले बाल बहुत जल्दी झड़ जाते हैं. महिला को लगभग 4 से 5 महीने तक तो अपने बाल सामान्य तरीके से बांधकर ही रखने चाहिए.


  • महिला को चाहिए कि वह अपने बालों पर किसी भी प्रकार का एक्सपेरिमेंट इस दौरान बिल्कुल भी ना करें, और अपने बालों को रंगने की नहीं सोचे.


  • प्रेगनेंसी के कुछ महीने तक आपको अपने सिर पर किसी भी प्रकार के केमिकल उत्पाद का प्रयोग नहीं करना है.


  • आपको कोशिश करना है, कि अपने बालों को कोई भी tuff स्टाइल में नहीं बांधे. हेयर कलर, स्ट्रेटनिंग, रिबॉन्डिंग आदि. यह सभी तरीके आपके बालों को रूखा करते हैं, और बाल झड़ने की समस्या बढ़ जाती है.


  • आपको अपने भोजन में इस प्रकार के खाद्य पदार्थों को शामिल करना है, जो बालों को पोषण देने का कार्य करते हैं. बालों के लिए जो आवश्यक तत्व होते हैं. उनमें आप मान लीजिए आयरन, जिंक, विटामिन डी, विटामिन ए, विटामिन सी.


  • तो अपने डॉक्टर या अपने डाइटिशियन की सलाह पर ऐसे खाद्य पदार्थ भोजन में शामिल करें और उनका पोषण प्राप्त करें.


  • आपको अपना शैंपू और कंडीशनर चुनने में भी काफी सावधानी रखने की आवश्यकता है. ऐसा प्रोडक्ट ना ले जो आपके बालों को रूखा सूखा बनाएं. इस प्रकार का प्रोडक्ट अपनाएं जो आपके बालों को घना करने में आपकी मदद करें.


  • अगर आपके बाल झड़ रहे हैं तो महिलाओं को अक्सर काफी ज्यादा तनाव हो जाता है, और तनाव में तो बाल और ज्यादा झड़ने लगते हैं, तो आप अपने आप को दूर करने के लिए योगा का इस्तेमाल कर सकती हैं, और योगा करना इसलिए भी आवश्यक है, इससे आपके शरीर में रक्त संचार दुरुस्त होगा. रक्त संचार अच्छा होने से बाल झड़ना कम हो जाते हैं.


  • आपको अपने बालों पर हेयर ऑयल का इस्तेमाल भी करना चाहिए. हर एक हेयर रोल आयल हर व्यक्ति को सूट भी नहीं करता है, लेकिन अगर आप गर्भवती हैं तो आपको आपकी उम्र 20 साल से ऊपर तो होगी ही, तो आपको इस वक्त यह जरूर पता होगा, कि आपके लिए कौन सा हेयर ऑयल अच्छा रहा है. अपने बालों पर हल्के हाथों से मसाज करें.


  • गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर में पोषक तत्व की कमी हो जाती है. ऐसे में अगर महिला के बाल झड़ रहे हैं, तो डॉक्टर फूड सप्लीमेंट लेना बता सकते हैं.


  • बालों पर किसी इलेक्ट्रिकल उपकरण का इस्तेमाल न करें, जैसे ब्लोड्रायर एवं स्ट्रेटनर.


  • घर से बाहर निकलते वक्त अपने बालों को ढक लें.





No comments

Powered by Blogger.