प्रेगनेंसी किट खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखें | Tips for purchasing pregnancy kit

 दर्शकों की बहुत सारी समस्याएं प्रेगनेंसी किट को प्रयोग करते समय आती हैं जैसे कि –

प्रेगनेंसी किट से हम चेक कर रहे हैं
हमारा रिजल्ट गलत आ रहा है.
ऐसा क्यों हो रहा है.
इसका क्या कारण है.



दोस्तों हमें बिल्कुल भी पता नहीं होता है, कि हमें प्रेगनेंसी किट को लेकर किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए .

हम अनजाने में कभी-कभी हम आपके मार्केट से लेकर आ जाते हैं. जिसकी वजह से हम एक गलत रिजल्ट प्राप्त होता है. गलत रिजल्ट प्राप्त होने के कारण उसके बाद उसके आधार पर लिए गए निर्णय से कभी-कभी हमें पछताना भी पड़ सकता है.

हमारे पास ऐसे प्रश्न आते हैं, कि हमें प्रेगनेंसी के लक्षण स्पष्ट नजर आ रहे हैं. लेकिन जब हमने कंफर्म करने के लिए किसके द्वारा मार्केट से लाई गई किट के द्वारा चेक किया तो हमें रिजल्ट Negative प्राप्त हो रहा है.

कभी-कभी प्रेगनेंसी किट से ऐसे भी रिजल्ट आते हैं, कि प्रेगनेंसी वाली लाइन तो डार्क आ जाती है, लेकिन दूसरी लाइन जो कि कंपलसरी आती है वह आती ही नहीं है ऐसे में भी काफी कंफ्यूजन होता है.

प्रेगनेंसी किट में महिला के शरीर में प्रेगनेंसी हार्मोन जिसे हम एचसीजी हार्मोन कहते हैं. उसकी उपस्थिति का पता लगाया जाता है, और किट के अंदर ऐसे केमिकल होते हैं, जो उसके साथ रिएक्शन करके उसकी उपस्थिति का प्रमाण देते हैं और आपको कंफर्म होता है की प्रेगनेंसी है. 

 

tips for purchasing pregnancy kit

 

ऐसे में उस केमिकल का सही होना अधिक आवश्यक है. अगर उस केमिकल के साथ पहले ही कोई रिएक्शन हो जाती है तो वह सही रिजल्ट नहीं देता है.

अब इसके बारे में तो हम यह नहीं बता सकते हैं कि जो प्रेगनेंसी किट है वह किस प्रकार के केमिकल से बनाई गई है उसकी क्वालिटी कैसी है, तो हमें कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए. हम बस इतना ही कर सकते हैं.

हमें प्रेगनेंसी किट पर उपस्थित अर्थात लिखी हुई एक्सपायरी डेट अवश्य देखनी चाहिए. क्योंकि एक्सपायरी डेट के बाद अगर आप किसका प्रयोग करते हैं, तो वह सही कार्य करें यह जरूरी नहीं.

आप हमेशा वेल नोन और स्टैंडर्ड कंपनी का ही प्रेगनेंसी किट प्रयोग में लाएं, लोकल कंपनीज की प्रेगनेंसी किट के मेटेरियल की क्वालिटी हल्की हो सकती है, क्योंकि वेल नोन इस्टैबलिश्ड कंपनी अपने प्रोडक्ट के साथ जल्दी से कंप्रोमाइज नहीं करती है.

प्रेगनेंसी किट खरीदते समय इस बात का भी ध्यान रखें, कि आपने जो प्रेगनेंसी किट खरीदी है वह है 8 से 10 डिग्री टेंपरेचर पर ही स्टोर की गई हो क्योंकि अधिक टेंपरेचर पर प्रेगनेंसी किट में उपस्थित केमिकल्स खराब हो सकते हैं.
रखते हैं. अगर आप छोटी दुकान से किट खरीदते हैं, तो ऐसा हो सकता है कि वह आपको बिना कोल्ड स्टोर की हुई प्रेगनेंसी किट ही दे दे. यह भी जरूरी नहीं कि उनके पास कोल्ड स्टोरेज हो.

अगर आप इन छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखेंगे तो आपके पास जो वह सही होंगे.

इसलिए आप जब भी किट खरीदने जाए तो किसी अच्छी बड़ी दुकान से ही प्रेगनेंसी किट खरीदें. जो इन्हें फ्रिज इत्यादि के अंदर स्टोर करके

 बस एक बात का ध्यान रखें जब भी आप प्रेगनेंसी टेस्ट करें तो आप मॉर्निंग के फर्स्ट यूरीन के साथ ही प्रेगनेंसी टेस्ट करें क्योंकि उस वक्त एचसीजी हार्मोन यूरिन में सबसे अधिक मात्रा में होता है.

कभी-कभी प्रेगनेंसी नहीं होती है हार्मोन अल डिसबैलेंस के कारण भी प्रेगनेंसी के लक्षण नजर आते हैं, और स्टैंडर्ड तरीका यही है कि आप जो प्रेगनेंसी चेक करें तो उसको री कंफर्म जरूर करें अर्थात पीरियड मिस होने के 7 से 8 दिन बाद भी एक बार जरूर चेक करें. अगर आपने पहली प्रेग्नेंसी ही इतने दिनों के बाद चेक की है तब भी एक या दो दिन बाद दोबारा चेक करके कंफर्म करें यह आप ही की सुरक्षा के लिए है.  


प्रेगनेंसी किट होगी उसके सही होने की संभावना सबसे ज्यादा रहती है और ऐसे में आप जो भी टेस्ट करेंगे,



Post a Comment

Previous Post Next Post

India's Best Deal