Header Ads

जुड़वां बच्चे पैदा करने के लिए 4 प्राकृतिक तरीके

किसी भी गर्भवती महिला को जब जुड़वा बच्चे होते हैं, तो उन्हें पालने में बहुत ज्यादा समस्या का सामना करना पड़ता है. महिलाएं यही चाहती है कि उनके यहां जुड़वा बच्चे पैदा नहीं  हो, लेकिन कुछ दंपत्ति यही चाहते हैं कि उनके यहां किसी प्रकार से जुड़वा बच्चे पैदा हो जाए. इसके लिए वह काफी कोशिश भी करते हैं.
 
 आज हम कुछ ऐसे प्राकृतिक तरीके अपने आर्टिकल के माध्यम से शेयर कर रहे हैं, जिनका प्रयोग करके यह कोशिश की जा सकती है कि महिला को जुड़वा बच्चों की प्रेगनेंसी प्राप्त हो. 

judavaan bachche paida karane ke lie praakrtik tareeke

जुड़वां बच्चे पैदा करने के लिए प्राकृतिक तरीके - Natural ways to have twins

दोस्तों जो भी प्राकृतिक तरीके हैं इनके द्वारा जुड़वा बच्चे पैदा करने की संभावना को बढ़ाया जा सकता है. ऐसा नहीं कि आप इन्हें अपना ले तो 100% आपके यहां जुड़वा बच्चे ही जाएंगे. मात्र आप उसकी संभावना को बढ़ा सकते हैं.

जंगली याम - Yam

एक प्रकार की जंगली सब्जी होती है. जो आसानी से अवेलेबल नहीं होती है. यह अंडाशय को उत्तेजित करती है. जिससे डिंबोत्सर्जन के दौरान एक से ज्यादा अंडे निकलते हैं.  जिसकी वजह से जुड़वा बच्चे होने की संभावना बढ़ जाती है.

अफ्रीकी महिलाओं को जुड़वा बच्चे ज्यादा होते हैं. तो इसका कारण यह है कि वह जंगली याम नाम की इस सब्जी का प्रयोग करती हैं. इसके अलावा प्रोटीन युक्त चीजें जैसे टू साबुत अनाज आदि भी इस कार्य को करने में सक्षम है.

डेयरी उत्पादों का प्रयोग - Use of dairy products

एक रिसर्च के मुताबिक 1 से ज्यादा बच्चों की व्यवस्था गर्भावस्था अगर आपको चाहिए, तो आपको डेयरी उत्पाद का सेवन ज्यादा करना होगा.

कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि मात्र दूध में ही ऐसे हारमोंस होते हैं, जो कि जुड़वा बच्चे पैदा करने में मदद करते हैं.

मेल पार्टनर के लिए जिंक युक्त भोजन- Zinc rich food for male partner

यहां इसका उद्देश्य मात्र स्पर्म की संख्या को बढ़ाने से है जितनी ज्यादा यह अवेलेबल रहेंगे. उतनी ज्यादा संभावना बढ़ेगी. जिंक युक्त भोजन से एक्स , वाई क्रोमोसोम के अंदर एक्टिव नेस आ जाती है.

बच्चों को स्तनपान - Breastfeeding babies

जो महिलाएं पहले मां बन चुकी हैं, और वहां अपने बच्चे को उचित समय तक स्तनपान कराती है. तो अगर वह दोबारा मां बनने की कोशिश करती है, तो उनके यहां जुड़वा बच्चे होने की संभावना ज्यादा रहती है.

दरअसल, स्तनपान कराने वालीं महिलाओं में प्रोलेक्टिन ज्यादा मात्रा में बनता है, जिससे जुड़वांं गर्भावस्था की संभावना बढ़ सकती है.




No comments

Powered by Blogger.