डिलीवरी के बाद कमर दर्द को दूर करने के 6 उपाय

 प्रेगनेंसी के बाद अक्सर महिलाओं को पेट दर्द की समस्या का सामना करना पड़ता है कुछ दिन तक तो पीरदान रह सकता है लेकिन अगर यह पेट दर्द लंबे समय तक रहता है तो यह ठीक नहीं माना जाता है इसके लिए आप कुछ घरेलू उपाय अपना सकते हैं जो इस प्रकार से हैं.

 
 

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के दौरान पेट दर्द कब चिंता का विषय है
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के दौरान पेट में कितने प्रकार के दर्द होते हैं
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में सिर दर्द के दौरान डॉक्टर से कब मिले | इलाज और सलाह
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के दौरान 4 प्रकार के सिर दर्द हो सकते हैं
इन्हें भी पढ़ें : क्या प्रेगनेंसी में सिर दर्द होना सामान्य बात है

मूत्र को ना रोक कर रखें

अगर महिला अनावश्यक रूप से पेशाब के प्रेशर को रोक कर रखे. मूत्राशय भर जाने की वजह से कमर और उसके आसपास के हिस्से पर प्रेशर पड़ेगा. जिससे महिलाओं को कमर दर्द की समस्या नजर आएगी. इसलिए मूत्राशय को खाली रखें और थोड़ा सा भी महसूस होने पर तुरंत पेशाब जाएं.

गर्म पानी से सिकाई

यह बड़ा ही पुराना तरीका है अगर कहीं भी दर्द होता है खासकर पीठ में दर्द होता है तो गर्म पानी से सिकाई करने से काफी राहत मिलता है इससे मांसपेशियां और रक्त नलिका है खुल जाती हैं और ब्लड तेजी से सर्कुलर होता है. और दर्द में कमी महसूस होती है.

एक्सरसाइज

नियमित रूप से कमर दर्द को दूर करने के लिए हल्के-फुल्के व्यायाम किए जा सकते हैं कौन-कौन से व्यायाम करने हैं इसकी सलाह आपको किसी योगाचार्य से बड़ी आसानी से मिल जाएगी. योगा करने से शरीर की मांसपेशियां और नर्वस सिस्टम खुल जाएगा और दर्द में कमी आएगी.

TIP: पीरियड्स आने के दौरान महिलाएं Reusable Menstrual Cup का इस्तेमाल करने लगी है. आजकल यह ट्रेंडिंग प्रोडक्ट है. यह काफी आरामदायक है. इसका प्रयोग करने से किसी भी प्रकार की लीकेज परेशानी इत्यादि का सामना नहीं करना पड़ता है. दिन में दो-तीन बार पैड बदलने की समस्या से मुक्ति मिल जाती है. बदबू का सामना नहीं करना पड़ता है. यह काफी किफायती है. एक बार इसे परचेस करने के बाद इसे बार-बार प्रयोग किया जा सकता है. यह बहुत ही अच्छी क्वालिटी की फ्लैक्सिबल मैटेरियल का बना होता है. इसके साइज का भी ध्यान रखें.

Reusable Menstrual Cup के बारे में और अधिक जाने


गर्म पानी से नहाने

गर्म पानी से नहाने पर भी शरीर खुल जाता है और उस शरीर की सिकाई ऑटोमेटिक भी हो जाती है. गर्म पानी से नहाने से शरीर के हर प्रकार के दर्द में कमी आती है और कमर दर्द में भी राहत मिलेगी.


इन्हें भी पढ़ें : वर्षा ऋतु में गर्भ की देखभाल कैसे करें
इन्हें भी पढ़ें : 35 के बाद प्रेग्नेंट होने के 15 टिप्स पार्ट #1
इन्हें भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी के समय महिला का कमरा कैसा हो जानिए - 7 #1
इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था में मुंहासों के क्या कारण है और प्राकृतिक तरीकों से कैसे मुहांसों से बचा जाए
इन्हें भी पढ़ें : अगर प्रेगनेंसी में अंडे खाते हैं तो इन बातों का ध्यान जरूर रखें

मालिश

मार्केट में काफी सारे दर्द को दूर करने के तेल आते हैं. इन तेलों से आप अपने कमर की मालिश कर सकती हैं. मालिश आप को हल्के हाथों से करनी है जिससे कि कमर पर किसी भी प्रकार का दबाव नहीं आए.  धीरे-धीरे यह तेल आपकी कमर के दर्द को दूर कर देगा.

हीटिंग पैड

आप कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए इलेक्ट्रिक हीटिंग पैड का भी इस्तेमाल कर सकती हैं.

सपोर्ट बेल्ट

प्रेगनेंसी के दौरान अगर आपकी कमर में दर्द की समस्या हो रही है तो आप कमर में बेल्ट बांध सकती हैं इससे आपकी कमर को काफी सहारा मिलेगा और गलत तरह से कमर नहीं मिलेगी और दर्द की समस्या कम होने लगेगी.

Post a Comment

Previous Post Next Post

India's Best Deal