सुरक्षित गर्भपात क्या है | कब गर्भपात असुरक्षित माना जाता है

0
97

आज हम सुरक्षित गर्भपात के विषय में बात करने वाले हैं.सुरक्षित गर्भपात क्या है.

जहां बहुत सारी महिलाएं प्रेग्नेंसी के लिए परेशान रहती है. वही काफी सारी महिलाओं के सामने और दंपत्ति के सामने या परिवार के सामने यह भी समस्या रहती है, कि वह गर्भवती हो गई है, और उन्हें संतान नहीं चाहिए होती है.
ऐसे में जहां महिलाएं प्रेगनेंसी के लिए परेशान होती है, तो वहीं कुछ महिलाएं इस बात को लेकर काफी ज्यादा परेशान रहती हैं कि वह गर्भवती हो गई है और वह इस गर्भ से कैसे छुटकारा पाएं.
यह सब अपनी अपनी परिस्थितियां होती हैं.

अगर परिस्थितिवश गर्भपात की तरफ जाना पड़े तो दंपत्ति जानना चाहते हैं कि सुरक्षित गर्भपात क्या है और असुरक्षित गर्भपात के कौन-कौन से तरीके होते हैं

सुरक्षित गर्भपात क्या है

गर्भपात के अंदर सुरक्षित जैसी चीज कुछ नहीं होती है. गर्भपात ही अपने आप में एक असुरक्षित परिस्थिति होती है.

इस बात में कोई भी संदेह नहीं कि अगर महिला गर्भपात की ओर जा रही है तो वह इसे सुरक्षित रूप से पूर्ण कर ले. गर्भपात होने में महिला के शरीर को कुछ ना कुछ नुकसान अवश्य होता है.

किसी भी महिला के लिए गर्भपात को इस प्रकार से आगे बढ़ाया जाए कि वह महिला को कम से कम नुकसान दे अर्थात महिला के शरीर को कम से कम नुकसान हो, कोई बड़ी कॉम्प्लिकेशंस पैदा नहीं हो, इसे ही सुरक्षित गर्भपात माना जाता है.

किसी डॉक्टर या कुशल एक्सपर्ट के देखरेख में किया गया गर्भपात सुरक्षित गर्भपात किस श्रेणी में आता है.

सुरक्षित गर्भपात क्या है | कब गर्भपात असुरक्षित माना जाता है
TIP:सुरक्षित गर्भपात कौन-कौन से होते हैं, इसे जानने के लिए आपको यह अवश्य पता होना चाहिए कि असुरक्षित गर्भपात की श्रेणी में किस प्रकार से किए गए गर्भपात आते हैं.

असुरक्षित गर्भपात क्यों होते हैं

गर्भपात कराना सामाजिक दृष्टिकोण से और धार्मिक दृष्टिकोण से उचित नहीं माना जाता है, और यह बात भी मानी जाती है, कि स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से भी गर्भपात कराना उचित नहीं होता है.

सामाजिक और धार्मिक दृष्टिकोण से गलत होने के कारण अक्सर दंपत्ति या महिला चोरी-छिपे गर्भपात कराने की कोशिश भी करते हैं, और इस चक्कर में वह असुरक्षित तरीकों को भी इस्तेमाल कर लेते हैं.

FEATURED

Reusable Menstrual Cup

  • 20+ Brands
  • Easy to use
  • Reusable
  • Customer Review

गर्भपात के असुरक्षित तरीके

यहां हम जितने भी तरीके बता रहे हैं एक एक्सपर्ट या डॉक्टर की राय के अनुसार इस तरीके से गर्भपात कराना काफी असुरक्षित होता है.

1.  एक डॉक्टर के अनुसार अगर कोई भी महिला या दंपत्ति बिना किसी एक्सपर्ट या डॉक्टर की राय के गर्भपात की ओर जाते हैं तो यह असुरक्षित गर्भपात माना जाता है.
—-
2.  समाज में एक समय था कि जब डॉक्टर्स का अभाव था, तो गांव गांव में कुशल दाई या व्यक्ति हुआ करते थे. जिन्हें प्रेगनेंसी से संबंधित या प्रसव से संबंधित काफी ज्ञान हुआ करता था और उनके सानिध्य में गर्भपात कराना काफी सुरक्षित होता था. लेकिन आजकल डॉक्टर्स की अवेलेबिलिटी काफी ज्यादा है. इस कारण से अब स्वयं की सलाह पर या किसी अकुशल व्यक्ति की राय या उसके सानिध्य में या किसी दाई के माध्यम से गर्भपात कराना काफी जोखिम भरा माना जाता है.

क्योंकि अब इनके पास बहुत ही कम मामले होते हैं, और अब इन्हें इतना अच्छा एक्सपीरियंस भी नहीं होता है. ऐसे व्यक्ति कुछ रुपयों के लालच में अपने आपको एक्सपर्ट बताकर कभी-कभी आप का नुकसान करा सकते हैं.

क्योंकि वह भी यह बात जानते हैं कि शायद आप इस बात को समाज में शेयर नहीं करना चाहते हैं. इस वजह से आप उनके पास आए हैं तो वह फायदा उठा सकते हैं.
—-
3. एक समय था जब महिला का शरीर काफी मजबूत हुआ करता था. आजकल हम काफी ज्यादा मशीनी युग में जी रहे हैं. जिस कारण से इंसान का शरीर काफी कमजोर हो गया है. क्योंकि हम उसका प्रयोग ही नहीं करते हैं, और हमारा भोजन भी उतना पौष्टिक नहीं रह गया है, और वातावरण के प्रदूषण के कारण भी शरीर कमजोर होता जा रहा है. ऐसे में गर्भपात जैसा बड़ा कार्य कम मेडिकल सुविधा के साथ होना काफी जोखिम भरा होता है.
—-
4. पारंपरिक दवाओं या फिर कुछ घरेलू नुस्खों के द्वारा स्वयं की सलाह पर या किसी व्यक्ति की सलाह पर जो कि एक्सपर्ट नहीं है, गर्भपात करा लेना काफी जोखिम भरा हो सकता है. हालांकि कभी-कभी सब कुछ सही से हो जाता है, लेकिन यह जरूरी नहीं कि यह बात हर महिला के साथ रहे. इसलिए यह जोखिम भरा तो होता ही है.
—-
5.  किसी अकुशल व्यक्ति द्वारा गर्भाशय में किसी वस्तु को डालकर गर्भपात कराना काफी जोखिम भरा माना जाता है. ऐसी स्थिति में कुछ अंश गर्भाशय के अंदर रह सकता है और इस वजह से बाद में इन्फेक्शन होने की संभावना बन जाती है. बहुत से मामलों में कभी-कभी आगे प्रेगनेंसी होने में भी काफी ज्यादा कठिनाई का सामना करना पड़ता है.
—-
6.  आजकल मेडिकल साइंस ने भी काफी तरक्की कर ली है बाजार में ऐसी ऐसी दवाइयां आती हैं जिनमें यह बताया जाता है कि आप अगर इनका प्रयोग कर ले तो स्वयं ही गर्भपात की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी.

लेकिन डॉक्टर के अनुसार हर महिला का शरीर अलग अलग होता है. अलग अलग शरीर की अलग अलग आवश्यकताएं होती हैं. उनके शरीर की गतिविधियां भी अलग-अलग होती हैं. ऐसे में मात्र एक दवाई एक निश्चित मात्रा में लेने से हर एक के साथ गर्भपात की प्रक्रिया सफलतापूर्वक पूरी हो जाए ऐसा संभव नहीं है.

कई बार महिलाओं को कई प्रकार की दूसरी समस्याएं भी होती हैं. जिसकी वजह से स्वयं की सलाह पर या किसी अकुशल व्यक्ति की सलाह पर मेडिकल स्टोर से दवाई लेकर गर्भपात कराना काफी ज्यादा रिस्की माना जाता है.
—–
7.  किसी दाई की या किसी झोलाछाप डॉक्टर की सलाह पर गर्भपात के लिए मालिश करवाना काफी ज्यादा घातक सिद्ध हो सकता है. कई बार देखा जाता है कि गर्भपात के लिए पेट की मालिश की जाती है, या पेट मालिश की सलाह दी जाती है. ऐसे में यह काफी रिस्की होता है. गर्भपात की प्रक्रिया आधी अधूरी रह सकती है.

तो दोस्तों यह थे कुछ तरीके जिनके द्वारा गर्भपात कराना काफी असुरक्षित माना जाता है इनमें से कुछ तरीकों से तो गर्भपात कभी-कभी सुरक्षित तरीके से हो जाता है, लेकिन कुछ तरीके तो काफी ज्यादा खतरनाक है जैसे कि गर्भाशय में कुछ वस्तु डालकर गर्भपात कराने की कोशिश करना या मालिश कराना.

सुरक्षित गर्भपात क्या है? यह प्रश्न बिल्कुल नहीं बनता है. क्योंकि गर्भपात बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं होता है. बस इतना सुनिश्चितकिया जा सकता है कि गर्भपात ने महिला को कम से कम नुकसान हो

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें